देहरादून: जिम कोर्बेर्ट टाइगर रिजर्व में अब महिलाएं करएंगी सफारी, वन्यजीवी से जुड़ी देंगी जानकारियां

देहरादून के मशहूर विभिन्न प्रजातियों, बाघों व अन्य वन्यजीवों पक्षियों के लिए जाना जाता जिम कोर्बेर्ट टाइगर रिजर्व में अब महिलाओं ने भी अपने कदम आगे बढ़ाएं है।

देहरादून: जिम कोर्बेर्ट टाइगर रिजर्व में अब महिलाएं करएंगी सफारी, वन्यजीवी से जुड़ी देंगी जानकारियां

देहरादून के मशहूर विभिन्न प्रजातियों, बाघों व अन्य वन्यजीवों पक्षियों के लिए जाना जाता जिम कोर्बेर्ट टाइगर रिजर्व में अब महिलाओं ने भी अपने कदम आगे बढ़ाएं है। जिम कोर्बेर्ट के जंगलों में महिलाएं सफारी में पर्यटकों को घुमाएंगी साथ वन्यजीवी जानकारियां भी पर्यटकों को देगी। इस पहल के लिए चौबीस महिलाओं को नियुक्ति की गई है। वही देहरादून के झाझरा में इन चौबीस महिलाओं को ट्रेनिंग देने की शुरुआत कर दी गई है। वही बीते मंगलवार को इसका शुभारम्भ वन मंत्री डॉ हरक सिंह रावत ने किया। 

वन मंत्री हरक सिंह का कहना है की यह महिला सशक्तिकरण की दिशा में यह पहला ऐतिहासिक कदम है। चीफ वाइल्डलाइफ कस्टोडियन जेएस सुहाग ने कहा की कॉर्बेट में पायलट के रूप में चयन की गई महिलाएं ना सिर्फ पर्यटकों को सफारी करवाएंगी साथ ही तेंदुआ,हाथी, बाघ, हिरण समेत विभिन्न प्रकार के वन्यजीवों से रूबरू करवाएंगी। हालाकिं उन्हें अभी गाड़ी चालाने की ट्रेनिंग दी जा रही है। 


ऐसा पहली बार नहीं हुआ है इससे पहले जिम कोर्बेर्ट पार्क में 6 महिलाओं को गाइड के रूप में नियुक्त किया जा चूका है। यह मिलाएं बाखूबी वन्यजीवों से सम्बंधित जानकारियां दे रही है। महिलाओं को किसी भी तरह की कठिन परिस्थिति आने पर किस तरह से लड़ना है और बचना है इसकी भी ट्रेनिंग दी जाती है। कार्यक्रम में प्रमुख वन संरक्षक वन्यजीव अनूप मलिक, मुख्य वन्यजीव प्रतिपालक जेएस सुहाग, कॉर्बेट टाइगर रिजर्व निदेशक राहुल, राजाजी टाइगर रिजर्व निदेशक डीके सिंह, वन संरक्षक शिवालिक वृत्त अखिलेश तिवारी, प्रभागीय वनाधिकारी देहरादून राजीव धीमान समेत कई अधिकारी उपस्थित थे।