देहरादून: बाघ के हमले से महिला की हुई मौत, गुस्साएं ग्रामीणों ने रोड पर लगाया जाम

नंदी भट्ट नाम की 65 वर्षीय महिला के ऊपर बाघ के हमला करने से महिला की मौत हो गई

देहरादून:  बाघ के हमले से महिला की हुई मौत, गुस्साएं ग्रामीणों ने रोड पर लगाया जाम
नंदी भट्ट नाम की 65 वर्षीय महिला के ऊपर बाघ के हमला करने से महिला की मौत हो गई जिसके बाद गुस्साए ग्रामीणों ने फतेहपुर के पास रामनगर-कलडुंगी रोड जाम कर दिया। जाम शाम पांच बजे से शुरू हुआ और खबर लिखे जाने तक जारी रहा क्योंकि आक्रोशित भीड़ ने वन विभाग के वन अधिकारी सीएस जोशी से मौके पर पहुंचकर ग्रामीणों से मिलने की मांग की। ग्रामीणों ने बताया कि महिला जंगल के पास अपने पशुओं के लिए चारा लाने गई थी तभी फतेहपुर गेस्ट हाउस के समीप एक बाघ ने हमला कर दिया जिससे उसकी महिला की मौत हो गई थी ।  

विभाग के कनिष्ठ अधिकारियों से बात करने से इनकार करते हुए ग्रामीणों ने लाश को उठाने से इनकार कर दिया और घंटों सड़क पर ही लेटे रहे। साथ ही, उन्होंने बाघ को फिर से आदमखोर के रूप में टैग करने की मांग की। हाल ही में 60 दिनों तक किसी का शिकार न करने पर इसका टैग हटा दिया गया था। इस बीच, फतेहपुर के रेंजर केएल आर्य ने टीओआई को बताया कि मुख्य वन्यजीव वार्डन ने अभूतपूर्व विरोध के कारण बाघ को शांत करने और उसे फंसाने की अनुमति दी है।

29 दिसंबर से अब तक सात लोगों को बाघ ने मार डाला है। गुजरात के एक निजी चिड़ियाघर से एक विशेष टीम को बाघ को फंसाने के लिए अपने आधुनिक उपकरणों और वाहनों के साथ-साथ पिंजरों के साथ 'अत्यधिक गुप्त' मिशन पर बुलाया गया था। हालांकि, इसे खाली हाथ लौटना पड़ा।