देहरादून: गुलजार हुआ पल्टन बाजार, खरीददारी करते दिखे लोग

देहरादून: गुलजार हुआ पल्टन बाजार, खरीददारी करते दिखे लोग

मंगलवार आज देहरादून में बाजार खुलते ही शहर में रौनक दिखी पल्टन बाजार में कपड़ों ,जूतों और बर्तन के की दुकाने खुलने से व्यापारियों के चेहरे की ख़ुशी साफ़ दिख रही थी। हालाकिं व्यापारियों की मांग है की बाजारों को पुरे समय के लिए खोला जाएं जो यह संभव नहीं है। वहीं, राजधानी देहरादून से लेकर हरिद्वार और कुमाऊं में भी बाजारों में चहल पहल नजर आई। हालांकि बाजार में भीड़ कम ही रही। कुछ ही दुकानों पर लोग खरीदारी करते नजर आए। वहीं सरकार ने आज मंगलवार को और 11 जून यानी शुक्रवार को बर्तन, हौजरी, इलेक्ट्रॉनिक्स, इलेक्ट्रिकल्स, इलेक्ट्रॉनिक्स पार्ट्स, कंप्यूटर हार्डवेयर व सॉफ्टवेयर, वेब डिजाइनिंग, हार्डवेयर पेंट्स, सैनेटरी, स्टोन (मार्बल चिप्स), कारपेंटर, फर्नीचर व टिंबर मर्चेंट्स की दुकानें सुबह आठ बजे दोपहर एक बजे खोलने की अनुमति दी है। 

कुछ व्यापारियों ने कहा फैसला स्वागत करने योग्य है 

रविवार को कोविड कर्फ्यू को लेकर सरकार की ओर से जारी की गई एसओपी में सोमवार को कुछ संशोधन किए गए। जिसमें चयनित दुकानों को आठ से 11 जून तक सुबह आठ बजे से दोपहर एक बजे तक खोलने की अनुमति दी गई जिससे व्यापारी दो खेमों में बंट गए हैं कुछ व्यापारियों ने कहा कि यह फैसला स्वागत योग्य है। इससे व्यापारियों को राहत मिलेगी। वहीं कुछ का कहना है कि कोविड कर्फ्यू में जारी की जा रही एसओपी में उन्हें पूरी तरह से अलग रखा जा रहा है जिससे भारी नुकसान हो रहा है। 

सरकार बनाएं मजबूत रणनीति 

दून उद्योग व्यापार मंडल और सराफा मंडल ने सरकार से मांग की सुबह दस से शाम पांच बजे तक बाजार खोलने की अनुमति दी जाए। सराफा मंडल के अध्यक्ष सुनील मेसोंन ने कहा कि बाजार खोलने के लिए सरकार की ओर से मजबूत रणनीति बनाई जानी चाहिए। अगली स्लाइड देखें सराफा व्यापारियों ने आरोप लगाया कि सरकार की ओर से जारी की जा रही गाइडलाइन में सराफा कारोबारियों को अलग रखा जा रहा है। कहा कि पार्ट ए और बी में बाजार को खोलने की योजना बनाई जाए। ए श्रेणी वाली दुकानों को सोमवार, मंगलवार और बुधवार को खोला जाए। बी श्रेणी वाली दुकानों को बृहस्पतिवार, शुक्रवार और शनिवार को खोला जाए। जबकि रविवार को बाजार बंद रखने के साथ ही सैनिटाजेशन पर काम किया जाए।