साइबर क्राइम: फर्जी कॉस्टमर सर्विस का दून पुलिस ने किया भांडाफोड़

देहरादून में चल रहे साइबर क्राइम का दून पुलिस आज फिर दून पुलिस ने किया भांडा फोड़ फर्जी कॉस्टमेर केयर सर्विसेज से अपराधी लगाते थे लाखों का चुना

साइबर क्राइम: फर्जी कॉस्टमर सर्विस का दून पुलिस ने किया भांडाफोड़

देहरादून में चल रहे साइबर क्राइम का दून पुलिस आज फिर दून पुलिस ने भांडा फोड़ कर दिया। देहरादून में फर्जी कॉस्टमेर केयर सर्विसेज से अपराधी लाखों का चुना लगाते थे। फिलहाल दोनों अपराधियों पटेल नगर के एक फ्लैट पर दबिश मार के पकड़ लिया गया है दोनों अपराधी पुलिस के गिरिफ्त में है। 


खुद को बताते थे कॉस्टमेर केयर का अधिकारी 

बता दे दोनों शातिर अपराधी अमेरिकी नागरिको को उनके कम्प्यूटर लैपटॉप सिस्टम्स के सर्विस को लेकर बेवक़ूफ़ बनाते थे। अपराधी अमेरिकी को विभिन्न सॉफ्टवेयर के माध्यम से फर्जी कस्टमर केयर अधिकारी बनकर उन्हें उनके सिस्टम पर तकनीकी खराबी को ठीक करने का झांसा देकर उनसे इस सर्विस के नाम पर पैसे लेकर ठगी करते थे। इस कार्य हेतु उनके द्वारा 02 टोल फ्री नम्बर क्रय किए गए थे। जो उनके लैपटॉप वकम्प्यूटर पर मौजूद सॉफ्टवेयर से कनेक्टेड है, जब कोई अमेरिकी नागरिक अपने देश मे सिस्टम डिवाईस के रिपेयर हेतु गूगल पर कस्टमर केयर नम्बर तलाश करेगा तो उसे उनका ही नम्बर मिलेगा, जिस पर उसके द्वारा कॉल करने के बाद उन्हें सम्बन्धित कम्पनी का कस्टमर केयर अधिकारी बनकर बात करते थे, तथा झांसा देकर उनके डिवाइस में Remote access सॉफ्टवेयर install करवाकर उनके सिस्टम में काफी खराबी होना तथा उनके डिवाइस को ठीक करने के नाम पर 100 डालर से 900 डालर प्राप्त करते थे। वहीं अपराधियों के बैंक खतों में दस लाख की धनराशि पाई गई जिसे जब्त कर लिया गया है।