10 महीनों में 26,000 भारतीय साइटों पर साइबर हमले

बीते बुधवार शीतकाल सत्र विधानसभा में सूचित किया गया है की अक्टूबर को समाप्त 10 महीने की अवधि में लगभग 26,000 भारतीय वेबसाइटों को हैक किया गया है।

10 महीनों में 26,000 भारतीय साइटों पर साइबर हमले

बीते बुधवार शीतकाल सत्र विधानसभा में सूचित किया गया है की अक्टूबर को समाप्त 10 महीने की अवधि में लगभग 26,000 भारतीय वेबसाइटों को हैक किया गया है। इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी राज्य मंत्री राजीव चंद्रशेखर ने कहा लोकसभा में एक लिखित उत्तर में लिखा सीईआरटी-इन ने बताया है कि कुल 17,560, 24,768, 26,121 और 25,870 भारतीय वेबसाइटों को क्रमशः 2018, 2019, 2020 और 2021 (अक्टूबर तक) के दौरान हैक किया गया था। भारतीय कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पांस टीम (सीईआरटी-इन) को भारत में साइबर सुरक्षा की घटनाओं पर नज़र रखने और निगरानी करने का काम सौंपा गया है। 


मंत्री ने निचले सदन को अपने जवाब में कहा है की भारतीय साइबरस्पेस पर साइबर हमले शुरू करने के लिए समय-समय पर प्रयास किए गए हैं। हमलावर दुनिया के विभिन्न हिस्सों में स्थित कंप्यूटर सिस्टम से समझौता कर रहे हैं और वास्तविक सिस्टम की पहचान छिपाने के लिए कूट तकनीक और छिपे हुए सर्वर का उपयोग कर रहे हैं जिससे हमले शुरू किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि विश्लेषण किए गए और सीईआरटी-इन को उपलब्ध कराए गए लॉग के अनुसार, उन कंप्यूटरों के इंटरनेट प्रोटोकॉल (आईपी) पते जहां से हमलों की उत्पत्ति हुई प्रतीत होती है, वे अल्जीरिया, ब्राजील, चीन, फ्रांस, जर्मनी, हांगकांग जैसे देशों से संबंधित हैं। 


इंडोनेशिया, नीदरलैंड, उत्तर कोरिया, पाकिस्तान, रूस, सर्बिया, दक्षिण कोरिया, ताइवान, थाईलैंड, ट्यूनीशिया, तुर्की, अमेरिका और वियतनाम से सरकार साइबर आतंकवाद सहित विभिन्न साइबर सुरक्षा खतरों से पूरी तरह अवगत और जागरूक है; और साइबर सुरक्षा मुद्रा को बढ़ाने और साइबर हमलों को रोकने के लिए विभिन्न उपाय किए हैं।