फर्जी सूचियाँ से दुष्प्रचार को युवाओं का मनोबल तोड़ने की साजिश: मनवीर सिंह चौहान

कॉंग्रेस के पास इस पेपर लीक मसले में कुछ बड़े नामों की संलिप्तता की जानकारी हैं तो वह तुरंत जांच ऐजेंसियों से इसे साझा करे|

फर्जी सूचियाँ से दुष्प्रचार को युवाओं का मनोबल तोड़ने की साजिश: मनवीर सिंह चौहान

भाजपा ने UKSSSC प्रकरण को लेकर नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य समेत कॉंग्रेस के तमाम नेताओं की अनर्गल बयानबाजी व सोशल मीडिया में फर्जी सूचियाँ से दुष्प्रचार को युवाओं का मनोबल तोड़ने की साजिश करार दिया  है। प्रदेश मीडिया प्रभारी मनवीर सिंह चौहान ने चुनौती देते हुए कहा कि यदि कॉंग्रेस के पास इस पेपर लीक मसले में कुछ बड़े नामों की संलिप्तता की जानकारी हैं तो वह तुरंत जांच ऐजेंसियों से इसे साझा करे अन्यथा मीडिया के सामने बड़े बड़े नाम शामिल होने का झूठा दावा कर जनता को दिग्भ्रमित न करें। 


मनवीर चौहान ने यशपाल आर्य द्धारा आपदा प्रबंधन को लेकर सरकार पर लगाए आरोपों का जबाब देते हुए बयान जारी कर कहा कि देहरादून व पिथौरागढ़ के सीमांत क्षेत्रों में आई प्राकृतिक आपदा में राज्य सरकार ने एसडीआरएफ, पुलिस व स्थानीय प्रशासन के आपसी समन्वय से लोगों तक युद्ध स्तर पर मदद पहुंचाने का कार्य किया है, जिसकी प्रशंसा जनता ही नहीं अपितु स्वयं पूर्व सीएम हरीश रावत ने भी की है। 


उन्होने तंज़ कसा कि मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ग्राउंड जीरों पर आपदा पीड़ितों के मध्य पहुँचकर राहत कार्यों की निगरानी तो कर सकते है, लेकिन कॉंग्रेस पार्टी पर प्रदेश व देशभर में टूटी राजनैतिक आपदा से उन्हे राहत नही पहुंचा सकते। चौहान ने आरोप लगाते हुए कहा कि कॉंग्रेस के तमाम छोटे बड़े नेता सुबह शाम एक ही झूठा राग आलाप रहे हैं कि भर्ती प्रकरण की जांच करने वाली ऐजेंसी बड़ी मछलियों, बड़े मगरमच्छ या बड़े नामों को नहीं पकड़ रही है, जबकि सच्चाई यह है कि राज्य के इतिहास में भ्रष्टाचार के खिलाफ उठाए इस सबसे कठोर कार्यवाही में अब तक रिकॉर्ड 41 गिरफ्तारियाँ हो चुकी हैं और शीघ्र ही अन्य नाम भी सामने आएंगे।


फिर भी यदि कॉंग्रेस के पास कुछ बड़े नामों की संलिप्तता की जानकारी है तो वह इसे जांच ऐजेंसियों से क्यूँ नहीं साझा करती है ? इन नामों में ऐसा क्या है जिसे छिपाया जा रहा है ? उन्होने कहा, सच्चाई यह है कि कॉंग्रेस के पास कोई भी नाम नहीं है। 


उनकी रणनीति है बड़े-बड़े नामों का दुष्प्रचार कर प्रदेश की जांच ऐजेंसियों की अब तक की मेहनत को बदनाम कर प्रदेश की लोक सेवा आयोग जैसी शीर्ष संस्थाओं को लेकर भी भ्रम फैलाकर युवाओं का मनोबल तोड़ने की है। प्रदेश की संस्थागत छवि देश के सामने धूमिल करने की भी है। उन्होने आरोप लगाते हुए कहा कि अपने इस कुत्सित प्रयास को सफल बनाने के लिए कॉंग्रेस मेन स्ट्रीम मीडिया में अनर्गल बयानों के साथ सोशल मीडिया पर भी भाजपा व राष्ट्रवादी संगठनों से जुड़ी फर्जी सूची वायरल करवाकर अपनी इस डट्री ट्रिक पर काम कर रही है |


चौहान ने विश्वास जताते हुए कहा कि धामी सरकार के आपदा प्रबंधन के कार्यों, विकास योजनाओं की गति व भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्यवाही से प्रदेश की जनता संतुष्ट है लिहाजा कॉंग्रेस नेताओं को भी प्रदेश हित में तमाम संवेदनशील मुद्दों पर राजनीति करने से बचना चाहिए |