सोनिया से ईडी की पूछताछ के खिलाफ कांग्रेस पार्टी ने किया जमकर प्रदर्शन

सोनिया गांधी को समन भेजें जाने की वजह से आज जगह जगह कांग्रेस पार्टी ईडी दफ्तरों के बाहर धरना प्रदर्शन कर रही है उत्तराखंड में कांग्रेस पार्टी ने किया प्रदार्शन।

सोनिया से ईडी की पूछताछ के खिलाफ कांग्रेस पार्टी ने   किया जमकर प्रदर्शन

सोनिया गांधी को समन भेजें जाने की वजह से आज जगह जगह कांग्रेस पार्टी ईडी दफ्तरों के बाहर धरना प्रदर्शन कर रही है उत्तराखंड मे भी सोनिया गांधी को  ईडी समन भेजे जाने की वजह से कांग्रेस पार्टी सड़कों पर उतर आई है अध्यक्ष करण मेहरा और नेता प्रतिपक्ष यश पल आर्य के नेतृत्व में कांग्रेस पार्टी ने ईडी दफ्तर के बाहर जमकर नारेबाजी की ।

 

आपको बता दें कि इसी सिलसिले में मंगलवार को कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष करण मेहरा ने  मीडिया से बातचीत में कहा था कि केंद्र सरकार अपनी नाकामियों को छुपाने के लिए विपक्षी दलों का उत्पीड़न कर रही है, राजनीतिक षड्यंत्र रच कर फर्जी मुकदमे दर्ज कराए जा रहे हैं। केंद्रीय जांच एजेंसियों का इस्तेमाल विपक्ष की आवाज को दबाने के लिए किया जा रहा है उनका कहना है कि राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी और हमारे प्रिय नेता राहुल गांधी लगातार केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ अपनी आवाज बुलंद कर रहे हैं जो कि भाजपा से बर्दाश्त नहीं हो रहा है इसीलिए भाजपा आधारहीन मुद्दों के आधार पर ईडी के जरिए उन्हें परेशान करने की कोशिश कर रही है।

 

क्यों भेजा गया सोनिया गांधी को समन

National Herald Newspaper इसके बारे में तो आप जानते ही होंगे 1938 में पंडित जवाहरलाल नेहरू ने इसकी शुरुआत की थी जिसको चलाने का जिम्मा एसोसिएटेड जर्नल लिमिटेड को दिया गया था शुरुआत में इस कंपनी पर कांग्रेस और गांधी परिवार का दबदबा रहा 70 साल बाद साल 2008 में घाटे की वजह से न्यूज़ पेपर को बंद किया गया मगर फिर सुब्रमण्यम स्वामी ने यह  मुद्दा उठाया की कांग्रेस ने पार्टी फण्ड से (AJL) को बिना ब्याज के 90 करोड़ रूपए लोन में दिए और राहुल और सोनिया ने यंग इंडिया नाम से कंपनी की शुरुआत की यंग इंडियन को एसोसिएटेड जर्नल्स को दिए लोन के बदले में कंपनी की 99 फीसदी हिस्सेदारी मिल गई। यंग इंडियन कंपनी में सोनिया और राहुल गांधी की 38-38 फीसदी की हिस्सेदारी है।वहीं बाकी का शेयर मोतीलाल बोरा और आस्कर फर्नांडिस के पास था।