54,000 मतों से सीएम धामी ने हासिल की जीत, मतदाताओं को दिया धन्यवाद

चंपावत उपचुनाव में 54,000 मतों से जीत हासिल करने वाले उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मतदाताओं को धन्यवाद दिया

54,000 मतों से सीएम धामी ने हासिल की जीत, मतदाताओं को दिया धन्यवाद
चंपावत उपचुनाव में 54,000 मतों से जीत हासिल करने वाले उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मतदाताओं को धन्यवाद देते हुए कहा कि वह सभी के प्यार और आशीर्वाद के लिए आभारी हैं। इसके तुरंत बाद उन्होंने ट्वीट किया, "चंपावत उपचुनाव में आपने अपने वोटों के माध्यम से मुझ पर जो प्यार और आशीर्वाद बरसाया है, उसके लिए मैं आभारी हूं। उपचुनाव के नतीजे आते ही सीएम पुष्कर सिंह धामी लोगों का शुक्रिया अदा करने टनकपुर पहुंच गए हैं। उनके साथ बड़ी संख्या में समर्थक भी पहुंचे हैं। 

इधर बीजेपी कार्यकर्ता गुलाल उड़ाने के साथ ही सीएम के समर्थन में नारेबाजी कर रहे हैं। भाजपा प्रत्याशी व मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी चुनाव परिणाम के तुरंत बाद चंपावत मोटर स्टेशन पर आभार सभा करेंगे. संक्षिप्त धन्यवाद बैठक के बाद सीएम व पूर्व विधायक कैलाश गहटोड़ी सड़क मार्ग से टनकपुर-बनबासा जाएंगे. पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व जिला पंचायत सदस्य मुकेश महाराणा ने बताया कि जीत का जश्न मनाने के लिए बरेली से फूल मंगवाए गए हैं। आपको बता दें कि विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने बहुमत तो पा लिया थी, लेकिन सीएम उम्मीदवार पुष्कर सिंह धामी खटीमा से चुनाव हार गए थे। हालांकि हार कर भी उन्होंने मुख्यमंत्री की कुर्सी नहीं गंवाई। 

पार्टी ने राज्य की सत्ता की कमान उन्हीं को सौंपी। अब उनके लिए विधानसभा चुनाव लड़कर विधायक बनना जरूरी था , जिसके लिए इस बार उन्होंने चंपावत सीट चुनी। बताते चले की 31 मई को हुए चंपावत विधानसभा उपचुनाव में करीब 64 फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया था। उत्तराखंड के कुमांउ क्षेत्र में स्थित चंपावत विधानसभा क्षेत्र में कुल 96,213 मतदाता हैं। मुख्यमंत्री ने खुद तो यहां जोरदार प्रचार किया ही, उनके लिए यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी प्रचार करने आए और उन्हें भारी मतों से जिताने की अपील की। 

आपको बता दें कि चंपावत सीट पर साल 2017 में बीजेपी के कैलाश गहतोड़ी ने 17,360 वोटों के अंतर से जीतकर रिकॉर्ड बनाया था। लेकिन आज चंपावत विधानसभा उप चुनाव में सीएम धामी ने 54,121 वोटों से जीत दर्ज कर नया रिकॉर्ड बना दिया। खटीमा से धामी को हराने वाले भुवन चंद्र कापड़ी को चंपावत के रण में लगाया गया था, लेकिन यहां उनका कोई दांव काम नहीं आया और कांग्रेस उम्मीदवार की जमानत जब्त हो गई।