सीएम धामी ने जमरानी बांध परियोजना शुरू करने के लिए जल शक्ति मंत्रालय की अनुमति का अनुरोध किया

उन्होंने 300 मेगावाट की बावला नंदप्रयाग जलविद्युत परियोजना के कार्यान्वयन के लिए शीघ्र स्वीकृति भी मांगी

सीएम धामी ने जमरानी बांध परियोजना शुरू करने के लिए जल शक्ति मंत्रालय की अनुमति का अनुरोध किया
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने शुक्रवार को दिल्ली में जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत से मुलाकात कर प्रस्तावित जमरानी बांध परियोजना को मंजूरी देने की मांग की, ताकि इस पर काम जल्द से जल्द शुरू हो सके। यह परियोजना प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के अंतर्गत आती है। उन्होंने 300 मेगावाट की बावला नंदप्रयाग जलविद्युत परियोजना के कार्यान्वयन के लिए शीघ्र स्वीकृति भी मांगी। 


बैठक में धामी ने कहा कि महत्वाकांक्षी जमरानी बांध बहुउद्देशीय परियोजना के तहत हल्द्वानी शहर से 10 किमी अपस्ट्रीम में नैनीताल में गौला नदी पर 130.60 मीटर ऊंचा कंक्रीट ग्रेविटी बांध बनाया जाना है। बांध के निर्माण से उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में 57,065 हेक्टेयर अतिरिक्त सिंचाई क्षमता का निर्माण होगा और हल्द्वानी और उसके आसपास के क्षेत्रों की पेयजल आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए प्रतिदिन 117 मिलियन लीटर पानी सुनिश्चित किया जाएगा। उन्होंने बताया कि 10 जून को जल शक्ति मंत्रालय के सचिव की अध्यक्षता में हुई बैठक में जमरानी परियोजना के लिए निवेश स्वीकृति की अनुशंसा की गयी थी। 


धामी ने कहा कि यूजेवीएन लिमिटेड के बावला नंदप्रयाग जलविद्युत परियोजना के लिए केंद्रीय जल आयोग और केंद्रीय विद्युत प्राधिकरण के विभिन्न निदेशालयों से स्वीकृति प्राप्त हो चुकी है। उन्होंने कहा कि सर्वोच्च न्यायालय या राष्ट्रीय गंगा जैसे अन्य संस्थानों द्वारा परियोजना पर कोई प्रतिबंध नहीं लगाया गया है। विकास प्राधिकरण या वन, पर्यावरण और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय।