मुख्यमंत्री ने की बैठक, गरीबी,बेरोजगारी को संतुलित करना है ,कहा इस साल बजट 58 हजार करोड़ का है

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने राज्य के वित्तीय प्रबंधन पर विशेष ध्यान देने के लिए आय के संसाधनों को बढ़ाने, व राजस्व हानि रोकने के प्रयासों पर ध्यान देने के निर्देश दिए है।

मुख्यमंत्री ने की बैठक, गरीबी,बेरोजगारी को संतुलित करना है ,कहा इस साल बजट 58 हजार करोड़ का है

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने राज्य के वित्तीय प्रबंधन पर विशेष ध्यान देने के लिए आय के संसाधनों को बढ़ाने, व राजस्व हानि रोकने के प्रयासों पर ध्यान देने के निर्देश दिए है। इसकी के साथ बजट के निर्धारित लक्ष्यों की पूर्ति के लिए जरूरतों के बारे में बताया। मुख्यमंत्री ने राज्य में गरीबी,बेरोजगारी, व पलायन से मुक्ति के लिए संतुलित एवं समावेशी विकास पर भी ध्यान पर मुख्यमंत्री ने जोर दिया है।    

इस साल का बजट 58 हजार करोड़ 

सोमवार को देर रत तक मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने विशेष मुद्दों पर बैठक रखी। उन्होंने बताया की इस साल राज्य का बजट 58 हजार करोड़ है। वही मुख्यमंत्री के सामने मुख्य सचिव, सचिव वित्त,अपर मुख्य सचिव,के विभिन्न विभागों के उच्चाधिकारियों के साथ राज्य की वित्तीय स्थिति की समस्याओं को रख। हालाकिं कोरोना के चलते बजट पर काफी असर पड़ा है फिर भी प्रयास रहेगा की वित्तीय स्थिति जल्द सुधार लाया जाए। 

केन्द्र से वित्तीय मदद के लिए प्रस्ताव तैयार किए जाए 
      
मुख्यमंत्री ने आय के संसाधनों को बढ़ावा देने वाली योजनाओं के शासन प्रबंध राज्य के 70 प्रतिशत वन भूमि से वन उपज आदि को आय के संसाधनों से जोड़ने, खनन की व्यवहारिक नीति बनाने को लेकर राजस्व आदि पर ध्यान देने पर बल दिया। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि जिन योजनाओं के लिए केन्द्र से वित्तीय मदद मिलनी है उनके प्रस्ताव तैयार किए जाए। उन्होंने उत्तर प्रदेश से परिवहन, ऊर्जा एवं अन्य विभागों से सम्बन्धित प्रकरणों के त्वरित निस्तारण के भी निर्देश दिए है। 


इस ख़ास अवसर पर मुख्य सचिव डॉ एस.एस. संधु, आनन्द वर्द्धन,अपर मुख्य सचिव श्रीमती मनीषा पंवार,विशेष सचिव पराग मधुकर धकाते,अपर प्रमुख सचिव अभिनव कुमार, अपर सचिव अरूणेन्द्र सिंह चौहान,प्रभारी सचिव वी षणमुगम, श्रीमती अमिता जोशी सहित कोषागार, रजिस्ट्रार सोसायटी,ऑडिट, पेंशन स्टेट जी.एस.टी. स्टाम्प रजिस्ट्रेशन, आदि विभागों के उच्चाधिकारियों मौजूद रहे।