मुख्यमंत्री ने किया कोरोना योद्धाओं को सम्मानित, मेडिकल कॉलेज के लिए 70-70 करोड़ की धनराशि

बीते रविवार को सीएम धामी ने राजपुर रोड एक होटल में आयोजित कार्यक्रम कोरोना योद्धाओं प्रशस्ति पत्र एवं स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया

मुख्यमंत्री ने किया कोरोना योद्धाओं को सम्मानित, मेडिकल कॉलेज के लिए 70-70 करोड़ की धनराशि

बीते रविवार  को सीएम धामी ने राजपुर रोड एक होटल में आयोजित कार्यक्रम कोरोना योद्धाओं  प्रशस्ति पत्र एवं स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया। इस ख़ास अवसर पर सीएम धामी ने कोरोना की जंग साथ खड़े रहे डॉक्टर्स, नर्स व अन्य कर्मचारियों की सरहाना की उन्होंने कहा दिन रात अपने परिजनों और अपनी परवाह किए बैगेर इस महामारी में अपना योगदान दिया है उन्होंने कहा सेवा परमों धर्म: की भावना के साथ पैरामेडिकल स्टाफ, एंबुलेंस कर्मी, सफाई कर्मचारी, पुलिसकर्मी, सेवाकर्मी, स्वयं सेवी संस्थाओं ने चौबीसों घंटे लगातार काम करने से पीछे नहीं हटे। 

पीएम मोदी के प्रयासों हुआ संभव 

सीएम धामी ने पीएम को धन्यवाद कहते हुए कहा की किसी को नहीं पता था की दूसरी लहर इतनी घातक हो सकती थी यह किसी को नहीं पता नहीं था। वही जब दूसरी लहर का सामना हुआ हो भारी संख्या में त्रासदी देखने को मिली ऑक्ससीजन की कमी, दवाओं की कमी, हमारे पास दूसरी लहर को नियंत्रित करने के लिए कोई उपचार नहीं था। जिसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अभूतपूर्ण प्रयासों के कारण आवश्यक दवा एवं उपकरण तथा वैक्सीन की आपूर्ति उपलब्धता बहुत कम समय के अन्तराल में हो पाई है। 

महामारी इस वक़्त मंद पड़ी

सीएम धामी ने कहा की यह सब स्वास्थ्य कर्मियों, कोविड महामारी के दौरान सूचनाओं को मीडिया, पुलिस कर्मियों तमाम समाज सेवा से जुड़े लोगों ने हर संभव प्रयास किया और कोरोना की इस जंग में हमसब ने जीत हासिल की। उन्होंने कहा की महामारी इस वक़्त मंद पड़ी है लेकिन अभी खत्म नहीं हुई है। लेकिन अभी भी हमें सावधानी बरतना जरुरी है शरीरिक दूरी और मास्क का पूरा ध्यान रखना है। राज्य सरकार ने कोरोना काल में स्वास्थ्य के क्षेत्र में सराहनीय कार्य करने वालों के लिए सीमित संसाधनों के बावजूद प्रदेश में कोविड-19 से प्रभावित परिवहन, संस्कृति, पर्यटन, क्षेत्र से जुड़े लोगों के लिए लगभग 200 करोड़ का तथा पिथौरागढ़ व रूद्रपुर मेडिकल कॉलेज के लिए 70-70 करोड़ की धनराशि, चिकित्सा क्षेत्र के लिए 205 करोड़ का पैकेज स्वीकृत किया है। 

इन्हे किया गया सम्मानित

सीएम धामी का कहना है की जल्द नए साल से पहले पहले सौ प्रतिशत वैक्सीनेशन होने का की सम्भावना है।  वही तीसरी लहर को बच्चों के लिए घातक माना गया है जिसके चलते बच्चों के लिए  माइक्रो न्यूट्रिएंट की व्यवस्था की गई है। इस साल कांवड़ यात्रा पर प्रतिबन्ध रहा लेकिन ईश्वर को सब पता है और अच्छे कार्यों को ईश्वर भी देखता है। वही निस्वार्थ भाव से किया जाने वाला कार्य निश्चित रूप से परमार्थ का कार्य है। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री द्वारा जिन स्वास्थ्य व चिकित्सकों, समाज सेवियों, पुलिस कर्मियों,को सम्मानित किया। उनमें डॉ. हेम चन्द्र पाण्डे,  चिकित्सा शिक्षा विश्वविद्यालय, डॉ. आशुतोष सयाना, कुलपति एच.एन.बी. प्रधानाचार्य, दून मेडिकल कॉलेज, डॉ. के.सी.पंत, चिकित्सा अधीक्षक दून मेडिकल कॉलेज डॉ. एन.एस बिष्ट, डॉ. आदि मौजूद रहे।