सदन में मुख्यमंत्री की घोषणा, ऊर्जा विभाग समेत अन्य विभागों में दी भारी छूट

गुरूवार आज विधानसभा सत्र में सीएम पुष्कर सिंह धामी ने सदन के दौरान महत्वपूर्ण चीजों पर घोषणाएं कीं. जानिए क्या क्या की घोषणाएं.

सदन में मुख्यमंत्री की घोषणा, ऊर्जा विभाग समेत अन्य विभागों में दी भारी छूट

गुरूवार आज विधानसभा सत्र में सीएम पुष्कर सिंह धामी ने सदन के दौरान महत्वपूर्ण चीजों पर घोषणाएं कीं. जानिए क्या क्या की घोषणाएं. इस दौरान सीएम ने स्वास्थ्य के क्षेत्र में आशा आशा कार्यकत्रियों ने बहुत महत्वपूर्ण योगदान किया है। कोविड की विषम परिस्थितियों में उन्होंने जिस प्रकार से काम किया है, वह प्रशंसनीय है। हम आशा बहनों को पांच माह तक 2-2 हजार रुपये प्रतिमाह दे रहे हैं। साथ ही एक-एक टेबलेट भी दिया जाएगा। आशा बहनों की समस्याओं को दूर करने के लिए सरकार पूरी तरह संवेदनशील है.


ऊर्जा विभाग

मुख्यमंत्री ने कहा कि  ऊर्जा विभाग के अंतर्गत बिजली बिलों के फिक्स्ड चार्ज को 03 माह हेतु छूट प्रदान की जाएगी. इससे लगभग 2,24,604 लोगों को लाभ मिलेगा. जिस पर अनुमानित व्यय (estimated expenses) राशि रू0 2463.81 लाख होगी. बिजली बिलों के देरी से भुगतान अधिभार पर 03 माह के लिए छूट प्रदान की जायेगी। इस पर लगभग रू0 3642.00 लाख का व्यय भार आएगा.


परिवाहन विभाग 

परिवहन विभाग (ट्रांसपोर्ट डिपार्टमेंट) के अंतर्गत सेवा वाहन कर में 06 माह के लिए छूट प्रदान की जाएगी. इसमें लाभार्थियों की अनुमानित (Estimated) संख्या 96380 है जबकि अनुमानित व्यय भार रू0 7580.00 लाख होगा। पंजीकरण प्रमाण पत्र, फिटनेस, परमिट, ड्राइविंग लाइसेंस आदि के नवीनीकरण पर विलंब शुल्क पर 06 माह के लिए छूट प्रदान की. इस पर अनुमानित व्यय भार रू0 3250.00 लाख आएगा।


शहरी विकास विभाग

इससे लगभग  8300 पर्यावरण मित्र लाभान्वित करते हुए शहरी विकास विभाग के अंतर्गत पर्यावरण मित्रों को रू0 2000 की प्रोत्साहन धनराशि 05 माह तक प्रदान की जाएगी. इस पर लगभग रू0 830.00 लाख का व्यय भार आएगा. पी०एम० स्वनिधि में पंजीकृत सभी लाभार्थियों को 05 माह तक 2-2 हजार रुपये की आर्थिक सहायता दी जायेगी। इसमें लाभार्थियों की अनुमानित संख्या 25000 है तथा अनुमानित व्यय भार  रू0 2500.00 लाख होगा.

पेयजल विभाग

पेयजल विभाग के अंतर्गत राज्य के समस्त जल / सीवर उपभोक्ताओं द्वारा 31 दिसंबर, 2021 तक अवशेष देयों का एकमुश्त भुगतान करने की दशा में विलम्ब शुल्क की राशि शत प्रतिशत माफ किया जाएगा. वही महंगाई की मार से परेशान प्रीतम सिंह साइकिल से विधानसभा पहुंचे थे. प्रीतम पाल ने कहा था की महंगाई से जनता त्रस्त हो चुकी है.गैस सिलेंडर की कीमत इतनी अधिक कर दी है. कांग्रेस इस मुद्दे को सड़क से लेकर सदन तक उठाएंगे. 

आंगनबाड़ी कार्यकत्री सेविकाओं ने किया विधानसभा कूच

विभिन्न मांगों को लेकर आंगनबाड़ी कार्यकत्री सेविका कर्मचारी यूनियन ने भी विधानसभा कूच किया। भू-अध्यादेश अधिनियम अभियान के कार्यकर्ताओं ने भी गुरुवार को विधानसभा कूच किया। इस दौरान हिमाचल की तर्ज पर उत्तराखंड में भी सशक्त भू-कानून लागू करने की मांग की गई. नियुक्ति की मांग को लेकर विधानसभा सत्र के दौरान उत्तराखंड डाइट डीएलएड प्रशिक्षित बेरोजगार संगठन के सदस्यों ने विधानसभा कूच किया। इस दौरान पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को रिस्पना पुल पर बैरीकेडिंग लगाकर रोक लिया। जिसके बाद प्रदर्शनकारी वहीं विरोध प्रदर्शन करने लगे।