चरणबद्ध तरीके से खुलेगी चार धाम यात्रा, 15 जून के बाद सरकार ले सकती है फैसला

कोरोना की रफ़्तार धीमे होते ही देवस्थानम बोर्ड ने ने श्रद्धालुओं के लिए अब चरणबद्ध तरीके से चार धाम यात्रा का खोलने का एलान क

चरणबद्ध तरीके से खुलेगी चार धाम यात्रा, 15 जून के बाद सरकार ले सकती है फैसला

कोरोना की रफ़्तार धीमे होते ही देवस्थानम बोर्ड ने श्रद्धालुओं के लिए अब चरणबद्ध तरीके से चार धाम यात्रा का खोलने का एलान कर दिया है। बोर्ड की ओर से शासन को यात्रा को सीमित संख्या में शुरू करने का प्रस्ताव भेजा गया है। इस पर स्वास्थ्य व आपदा प्रबंधन की अनुमति के बाद सरकार 15 जून के बाद फैसला ले सकती है। 


कोरोना के  पिछले साल साल से इस साल भी चार धाम यात्रा शुरू नहीं हो पाई सीएम के आदेशनुसार जल्द यात्रा शुरू करने की बात कही जा रही थी। लेकिन वर्तमान में बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री धाम में बिना श्रद्धालुओं के सन्नाटा पसरा है। सिर्फ मंदिर में पुजारी, तीर्थ पुरोहित ही पूजा पाठ की परंपरा को निभा रहे हैं।


कोरोना के हालात काबू में आते ही बीते वर्ष को दृश्टिगत करते हुए देवस्थानम बोर्ड ने चारधाम यात्रा को चरणबद्ध तरीके खोलने की तैयारी की है। जिसमें सबसे पहले चारधामों के समीपवर्ती गांवों के लोगों को ही दर्शन की अनुमति दी जाएगी। इसके बाद जिला, राज्य और बाहरी राज्यों के लोगों के लिए यात्रा शुरू की जा सकती है।

ई-पास के माध्यम से मिलेगी अनुमति 

चारधामों में एक दिन में आने वाले श्रद्धालुओं की क्षमता के आधार पर यात्रा को सीमित संख्या में संचालित करने का प्रस्ताव देवस्थानम बोर्ड ने दिया है। साथ ही श्रद्धालुओं के लिए ई-पास के माध्यम से यात्रा की अनुमति दी जाएगी।बीते वर्ष की तर्ज पर चारधाम यात्रा को संचालित करने की तैयारी की गई है। बोर्ड की ओर से प्रस्ताव भेजा गया है। मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में बैठक होनी है। स्वास्थ्य और आपदा प्रबंधन विभाग की ओर से जिस तरह की अनुमति मिलेगी। उसी आधार पर यात्रा का संचालन किया जाएगा।
                                                            
                                                                                                             रविनाथ रमन, सीईओ, चारधाम देवस्थानम बोर्ड