खटीमा से निकलेगी परिवर्तन यात्रा, महंगाई, बेरोजगारी को होगी समर्पित,बड़ी साजिश की आशंका: सूत्र

पूर्व मुख्यमंत्री व कांग्रेस अधक्ष्य हरीश रावत कुछ घंटों में खटीमा के शहीद स्थल से परिवर्तन यात्रा निकालेंगे।

खटीमा से निकलेगी परिवर्तन यात्रा, महंगाई, बेरोजगारी को होगी समर्पित,बड़ी साजिश की आशंका: सूत्र

पूर्व मुख्यमंत्री व कांग्रेस अधक्ष्य हरीश रावत कुछ घंटों में खटीमा के शहीद स्थल से परिवर्तन यात्रा निकालेंगे। उन्होंने कहा है यह यात्रा हमारी पिछले नौ माह से दिल्ली के बॉर्डर पर अपने मांगों को लेकर अपनी अस्तित्व, किसानी और खेती की रक्षा के लिए संघर्ष कर रहे किसानों को समर्पित होगी। 

महंगाई पर होगा जमकर विरोध 

उन्होंने कहा है की हमारी यात्रा का यह चरण सुरसा के मुंह के तरीके से बढ़ती हुई महंगाई के विरोध में खड़े जनता के साथ हमारी एकजुटता को समर्पित है। महंगाई के खिलाफ निरंतर आवाज उठा रहे राहुल गांधी के शौर्य और पराक्रम को समर्पित है। घरेलु गैस के बेतहाशा बढ़ते दामों से संतप्त हमारी ग्रहणी, बहनों को समर्पित है। परिवर्तन यात्रा का हमारा यह दौर उन नौजवानों को समर्पित है जो वर्षों से सरकारी नौकरियों में भर्ती की आस लगाए हुए है। 

युवाओं नौकरी के नाम पर टहलाया जा रहा है

कभी यहां फॉर्म भर रहे हैं, कभी उधर फॉर्म भर रहे हैं लेकिन जिनको केवल टहलाया जा रहा है, केवल झूठे आश्वासन दिए जा रहे हैं, झूठी घोषणाएं दी जा रही हैं, जिनको केवल फॉर्म भरवाकर उनका पैसा तो खर्च करवा दिया जा रहा है, मगर नौकरी के नाम पर केवल टहलाया जा रहा है। हमारी यात्रा का यह चरण, प्रथम दिन उन सभी संघर्षरत रहे उन लोगों के लिए है जो जो मानवीय अधिकारों के लिए, अपने #न्यायिक_अधिकारों के लिए, अपने जीवन के अधिकारों के लिए, अपने पेट के अधिकार के लिए, अपने रोजगार के अधिकार के लिए, अपने सम्मान के अधिकार के लिए संघर्ष कर रहे है। 

होने जा रही है कांग्रेस के खिलाफ बड़ी साजिश 

हरीश रावत द्वारा फेसबुक और ट्विटर पर एक पोस्ट किया गया है जिसमे वह यह बताते नजर आ रहे है की सूत्रों के अनुसार बता रहे हैं की एक बड़ी साजिश कांग्रेस के साथ होने जा रही हैं। जिसपर उन्होंने कहा है की अभी अभी मुझे दो सूत्रों से सूचना मिली है, जो चिंताजनक है। यह राजनीति में प्रतिद्वंदिता हो, स्वस्थ प्रतिद्वंदिता हो, वैचारिक प्रतिद्वंदिता हो, कर्म करने की प्रतिद्वंदिता हो, मगर यदि आप अपने राजनैतिक प्रतिद्वंदी के ऊपर छात्रों को उकसा करके या कुछ लोगों को मोटिवेट करके, उनके जरिए स्याही में तेजाब मिलाकर कांग्रेस के नेताओं की यात्रा में किसी एक व्यक्ति को चिन्हित करके फेंकना चाहेंगे तो ये उत्तराखंड की राजनीति के लिए कलंक पूर्ण अध्याय होगा। 

ईश्वर से प्राथना प्रार्थना है कि ऐसा न हो, यह एक केवल आशंका मात्र हो

उन्होंने कहा है यदि ऐसा होता है तो उस राजनैतिक दल का सहज ही अनुमान लगाया जा सकता है कि कौन राजनैतिक दल है! तो इसलिए सूचना मिलते ही मैं इसको सभी जिसमें प्रशासनिक एजेंसीज भी सम्मिलित हैं, पुलिस भी सम्मिलित है और राजनैतिक दल भी सम्मिलित हैं, उनके साथ साझा कर रहा हूंँ। मेरी, माँ पूर्णागिरि से प्रार्थना है कि ऐसा न हो, यह एक केवल आशंका मात्र हो और उसके आधार पर यह सूचना मुझ तक पहुंची हो, मगर यदि ऐसा कोई प्रयास होता है तो यह उत्तराखंड की राजनीति का बड़ा ही दुखद अध्याय होगा, एक बड़ा ही निंदनीय प्रयास होगा।