'इंद्र देव हाज़िर हो....' किसान ने इंद्र देव पर किया मुकदमा

हमेसा क्रोध में रहने वाले इंद्र देव पर इस बार एक आम युवक का क्रोध फूट पड़ा है यहाँ तक की उसने इंद्र देव को कोर्ट में हाज़िर भी होने पर मजबूर कर दिया है।

'इंद्र देव हाज़िर हो....' किसान ने इंद्र देव पर किया मुकदमा

परेश रावल और अक्षय कुमार की फिल्म ओह माय गॉड तो आपको याद ही होगी जिसमे परेश रावल की दूकान भूकंप में ख़तम हो जाने के बाद परेश रावल फिल्म में भगवान  की भूमिका निभा रहे अक्षय कुमार पर  मुकदमा दर्ज कर देते है जिसके बाद  भगवान  बने अक्षय कुमार अपना मुकदमा लड़ने भी आते है ऐसा ही एक मामला उत्तर प्रदेश के गोंडा से सामने आया है जहा अब इंद्र भगवन को अपना केस लड़ने आना पड़ेगा।

 

हमेसा क्रोध में रहने वाले इंद्र देव पर इस बार एक आम युवक का क्रोध फूट पड़ा है यहाँ तक की उसने इंद्र देव को कोर्ट में हाज़िर भी होने पर मजबूर कर दिया है अब ये देखना दिलचस्प होगा की इंद्र देव अपने वकील के साथ कब  धरती लोक पर उतरते है।जहां एक तरफ भीषण बारिश की वजह से कई राज्यों में बाढ़ के हालात पैदा हो गए हैं वही  उत्तर प्रदेश के गोंडा जिले से एक बड़ी ही हैरान कर देने वाली खबर सामने आई है जहां समाधान दिवस के अवसर पर एक किसान की शिकायत सुनकर खुद अधिकारी भी भौचके रह गए है।

 

 गोंडा जिले के कर्नलगंज में संपूर्ण समाधान दिवस पर कर्नलगंज कटरा बाजार के रहने वाले सुमित कुमार यादव ने वकील के माध्यम से बारिश ना होने की वजह से इंद्र देवता के खिलाफ शिकायत दी है जिसमें कहा गया है कि इंद्रदेव बारिश नहीं कर रहे हैं जिसके चलते उन पर कार्यवाही होनी चाहिए इस शिकायत के मिलने के बाद कर्नलगंज के तहसीलदार ने अग्रसारित कर दिया है उन्होंने इस प्रार्थना पत्र को फॉरवर्ड कर कार्यवाही के लिए कहा है।

 

सुमित यादव द्वारा दिए गए पत्र में यह लिखा गया है कि- “विगत कई माह से पानी नहीं गिर रहा है जिससे जनमानस बहुत ही परेशान है जीव जंतुओं और खेती पर भारी प्रभाव पड़ रहा है, जिससे घर में रह रही औरतें और छोटे बच्चे काफी ज्यादा परेशान है”आपसे निवेदन है कि आवश्यक कार्यवाही करने की कृपा करें।”वही गोंडा के जिलाधिकारी डॉ उज्जवल कुमार ने कहां है कि यह महज एक शरारत है जो भी लोग इस तरह की शरारते करते हैं उनके खिलाफ उन्हें चिन्हित कर सख्त से सख्त कार्यवाही करनी चाहिए साथ ही उन्होने यह निर्देश भी दिए की अज्ञात व्यक्ति की तलाश कर उस पर एफ आई आर दर्ज की जाए।"