प्रॉपर्टी कब्ज़ा करने के आरोप में बीजेपी महिला नेता रीना गोयल बीजेपी पार्टी से हुई बाहर

बुजुर्ग दंपती की संपत्ति कब्जाने के आरोप में गिरफ्तार हुई रीना गोयल

प्रॉपर्टी कब्ज़ा करने के आरोप में बीजेपी महिला नेता रीना गोयल बीजेपी पार्टी से हुई बाहर

देहरादून में बीजेपी महिला नेता रीना गोयल को बीजेपी पार्टी से निष्कासित कर दिया गया है रीना गोयल व उसके बेटों पर एक बुजुर्ग दंपती की संपत्ति कब्जाने का आरोप लगा है। इस मामले में पुलिस ने बीजेपी नेता समेत 4 लोगों को गिरफ्तार किया है। रीना गोयल के खिलाफ अमेरिका से मेल आई थी। जिसके बाद पार्टी ने उन्हें अनिश्चितकाल के लिए निष्कासित कर दिया है। रीना गोयल बीजेपी महिला मोर्चा की प्रदेश मंत्री थीं। उन पर संपत्ति पर कब्जा करने समेत कई गंभीर आरोप लगे हैं। 

मेल से भेजी थी शिकायत 

अमेरिका में रहने वाले सुरेश महाजन पुत्र स्वर्गीय गंडामल महाजन ने क्लेमेंटाउन पुलिस को एक मेल भेजी थी। जिसमें उन्होंने बताया कि रीना और उनके बेटे कोरोना से जान गंवा चुके बुजुर्ग दंपती की जमीन पर कब्जा करने की कोशिश कर रहे हैं। बुजुर्ग दंपती डीके मित्तल और उनकी पत्नी सुशीला मित्तल सुभाषनगर में रहते थे। मई में कोरोना की वजह से दंपती की मौत हो गई। दंपती का कोई वारिस नहीं है। ऐसे में आरोपी उनकी संपत्ति में घुसकर कब्जा करने की कोशिश कर रहे हैं।


रीना गोयल ने संपत्ति पर कब्जा करने की नीयत से संपत्ति के बाहर डीके मित्तल व सुशीला मित्तल के नाम से चैरिटेबल ट्रस्ट का बोर्ड लगाया है, जबकि वो ट्रस्ट के नाम पर इस संपत्ति को हथियाना चाहते हैं। शिकायत करने वाले सुरेश महाजन कोरोना से जान गंवाने वाले दंपती के रिश्तेदार हैं और अमेरिका में रहते हैं। आरोप है कि जब क्लेमेंटाउन पुलिस कब्जा हटाने के लिए मौके पर पहुंची तो रीना गोयल और उनके बेटों-रिश्तेदारों ने पुलिसकर्मियों संग बदसलूकी भी की। 

अब पुलिस ने रीना गोयल, उनके बेटे लव्य गोयल, ऋषभ और अनुज सैनी के खिलाफ शांति भंग, कोविड कर्फ्यू के उल्लंघन और संपत्ति पर कब्जे के प्रयास का मुकदमा दर्ज किया है। गिरफ्तारी के बाद चारों आरोपियों को कोर्ट में पेश किया गया। उधर शिकायत मिलने के बाद बीजेपी महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष ऋतु खंडूड़ी ने रीना गोयल को पार्टी से निष्कासित कर दिया है।