बीजेपी ने अलवर रेप पर की प्रियंका की खिंचाई, लड़की हूँ न्याय के लिए लड़ने की इजाजत नहीं है

प्रियंका गांधी वाड्रा द्वारा उत्तर प्रदेश चुनाव के लिए उन्नाव बलात्कार पीड़िता की मां को कांग्रेस उम्मीदवार के रूप में नामित करने के एक दिन बाद, भाजपा ने तीखा हमला

बीजेपी ने अलवर रेप पर की प्रियंका की खिंचाई, लड़की हूँ न्याय के लिए लड़ने की इजाजत नहीं है

प्रियंका गांधी वाड्रा द्वारा उत्तर प्रदेश चुनाव के लिए उन्नाव बलात्कार पीड़िता की मां को कांग्रेस उम्मीदवार के रूप में नामित करने के एक दिन बाद, भाजपा ने तीखा हमला करते हुए पूछा कि कांग्रेस नेता एक विकलांग लड़की के परिवार से क्यों नहीं मिलीं, जिसका राजस्थान के अलवर जिले में कथित रूप से यौन शोषण किया गया था। जब अलवर में यह वीभत्स घटना हुई तो खुद को महिलाओं की चैंपियन कहने वाली प्रियंका वाड्रा वहां मौजूद थी। भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने मंगलवार रात की घटना का जिक्र करते हुए कहा की प्रियंका वाड्रा का जन्मदिन था और वह अपने पति वाड्रा के साथ रणथंभौर के जंगल में थीं। वह अपना जन्मदिन मनाने के लिए वहां थीं। जहां एक विकलांग लड़की पाई गई थी। 


चुनिंदा राजनीति का आरोप 

पात्रा ने कांग्रेस नेताओं पर महिलाओं के खिलाफ अत्याचार को लेकर 'चुनिंदा राजनीति' करने का आरोप लगाया। “आज सवाल यह है कि प्रियंका जी, क्या आप राजस्थान की बेटी से मिलने गई थीं? आप और राहुल गांधी देश भर में जाते हैं जहां कहीं भी अन्याय होता है और अत्याचार होता है। आप उनके साथ फोटो खिंचवाते हैं और वायरल कर देते हैं। पात्रा ने उन्नाव बलात्कार पीड़िता के परिवार के साथ प्रियंका की मुलाकात के संदर्भ में कहा आप उन्नाव में राजनीति कर रहे हैं। लेकिन मुद्दा अब उन्नाव बनाम यहां न आओ (यहां मत आना) बन गया है... आप उन्नाव जा सकते हैं लेकिन आप राजस्थान नहीं जा सकते। पात्रा ने पूछा क्या आप पीड़िता को देखने गए थे, जो आईसीयू में भर्ती है? क्या आप पीड़िता के घर गए थे? क्या आपने मुख्यमंत्री से पीड़िता के बारे में पूछा? क्या आपने घटना के बारे में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से रिपोर्ट मांगी थी। 


मुझे न्याय के लिए लड़ने की इजाजत नहीं है 

पात्रा ने कहा, प्रियंका चुप हैं क्योंकि उनकी राजस्थान में पार्टी सत्ता में है ऐसा क्यों है की आप उत्तर प्रदेश में जा कर कहती है की लड़की हूं नारी शक्ति हूं, लेकिन राजस्थान में लड़की हूं, लाना माना है। ऐसा क्यों है कि आप उत्तर प्रदेश में कहते हैं कि मैं लड़ सकती हूं क्योंकि मैं एक लड़की हूं लेकिन राजस्थान में, मुझे [न्याय के लिए] लड़ने की इजाजत नहीं है क्योंकि मैं लड़की हूं। भाजपा प्रवक्ता ने यह भी आरोप लगाया कि अलवर की घटना पर प्रियंका से मिलने की कोशिश करने वाले कुछ भाजपा सांसदों और वरिष्ठ कार्यकर्ताओं को ऐसा करने की अनुमति नहीं दी गई क्योंकि "वह राजस्थान के रणथंभौर के जंगल में अपना जन्मदिन मना रही थीं। पात्रा ने राजस्थान की मंत्री ममता भूपेश की उनकी कथित टिप्पणी के लिए भी आलोचना की कि "बलात्कारियों ने तिलक नहीं पहना था" ताकि उनकी पहचान की जा सके और उन्हें तुरंत गिरफ्तार किया जा सके। तिलक को बलात्कारियों से जोड़ना... कैसी राजनीति है? ममता जी और अशोक गहलोत जी को इसके लिए माफी मांगनी चाहिए।