दीवार लाँघ के गांववालों से जान बचा कर भागे बीजेपी नेता पंकज भट्ट जमकर हुआ बवाल

पिछले दो सालों से आक्रोशित चल रहे देवस्थाम बोर्ड के तीर्थपुरोहितो ने बुधवार जमकर बवाल कर दिया। आक्रोशित तीर्थपुरोहितो के बीच खुद पंकज धक्का-मुक्की करते हुए मारपीट के शिकार हो गए।

दीवार लाँघ के गांववालों से जान बचा कर भागे बीजेपी नेता पंकज भट्ट जमकर हुआ बवाल

पिछले दो सालों से आक्रोशित चल रहे देवस्थाम बोर्ड के तीर्थपुरोहितो ने बुधवार जमकर बवाल कर दिया। मामला रुद्रप्रयाग के स्थित उखीमठ का जहां आक्रोशित चल रहे देवस्थाम बोर्ड के तीर्थपुरोहितो के बीच बीजेपी नेता पंकज भट्ट समर्थन करने पहुंचे थे लेकिन आक्रोशित तीर्थपुरोहितो के बीच खुद पंकज धक्का-मुक्की करते हुए मारपीट के शिकार हो गए। 

बताया जा रहा है कि तीर्थपुरोहितों की रैली का समर्थन करने पहुचे बीजेपी नेता पंकज भट्ट को देख तीर्थपुरोहित आग बबूला हो गए, दरअसल भाजपा नेता पंकज भट्ट पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज के काफी करीबी माने जाते हैं। ऐसे में जैसे ही तीर्थपुरोहितों को इसकी भनक लगी, उनका गुस्सा सातवें आसमान पर पहुंच गया, पूरे मामले में तीर्थपुरोहितों का कहना है कि भाजपा नेता ने तहसील गेट में जानबूझ कर गलत ढंग से गाड़ी लगाई थी ताकि रैली तहसील में न जा सके। 


पंकज किसी तरह से अपनी जान बचाते हुए कार में बैठे लेकिन लोगों ने उनकी कार को आगे नहीं बढ़ने दिया. सुरक्षाकर्मियों ने भीड़ को संभालने का प्रयास किया लेकिन वो भी नाकाफी दिखा. बाद में पंकज ने किसी तरह गाड़ी आगे बढ़ाई तो वो ऐसी जगह पर अटक गए जहां पर गाड़ी ले जाने का रास्ता नहीं था. किसी तरह से पंकज अपनी कार से निकले और भाग कर पास की एक ऊंची दीवार को फांदा. बाद में वे वहां मौजूद घरों में होते हुए बच कर निकले।