उत्तराखंड में बड़ा हादसा: खाई में गिरा वाहन, घर लौट रही थी बरात, 14 बारातियों की मौत

उत्तराखंड के चंपावत में सोमवार को एक बड़ा हादसा हो गया जहाँ चंपावत जिले के डंडा क्षेत्र में घर लौट रही बरात का वाहन खाई में गिर गई

उत्तराखंड में बड़ा हादसा: खाई में गिरा वाहन, घर लौट रही थी बरात, 14 बारातियों की मौत

उत्तराखंड के चंपावत में सोमवार को एक बड़ा हादसा हो गया जहाँ चंपावत जिले के डंडा क्षेत्र में घर लौट रही बरात का वाहन खाई में गिर गई, जिसमें 14 बारातियों की मौत हो गई। चंपावत से करीब 65 किलोमीटर दूर इस जगह पर एक परिवार में शादी हुई थी। हादसे की सूचना मिलते ही पुलिस और रेस्क्यू टीम मौके पर पहुंच गई। 14 शवों को खाई से निकाला गया है। हादसे में गंभीर रूप से घायल दो लोगों को इलाज के लिए जिला अस्पताल लाया गया है। 


टनकपुर-चंपावत राजमार्ग से जुड़े सुखीढांग-दंडामीनार मार्ग पर वाहन दुर्घटना में 16 में से 14 लोगों की मौत हो गई। गंभीर रूप से घायल चालक और एक अन्य व्यक्ति को इलाज के लिए जिला अस्पताल लाया गया है. अब तक मिली जानकारी के अनुसार वाहन में सवार सभी लोग टनकपुर की पंचमुखी धर्मशाला में हुई शादी में शामिल होकर घर लौट रहे थे. बताया जा रहा है कि बीती रात करीब 3.20 बजे वाहन अनियंत्रित होकर गहरी खाई में गिर गया। सभी काकनाई निवासी लक्ष्मण सिंह के पुत्र मनोज सिंह की शादी में शामिल होने गए थे। मरने वालों में ज्यादातर लक्ष्मण सिंह के रिश्तेदार बताए जा रहे हैं। 


चालक की हालत ज्यादा गंभीर है। मृतक काकनाई के डंडा और कठौती गांव के रहने वाले थे. हादसे के कारणों का अभी पता नहीं चल पाया है, लेकिन माना जा रहा है कि यह दुर्घटना अधिक क्षमता के कारण हुई है। हालांकि पुलिस मामले की जांच कर रही है। लक्ष्मण सिंह 61 पुत्र ध्यान सिंह, केदार सिंह 62 पुत्र दान सिंह, ईश्वर सिंह 40 पुत्र फतेह सिंह, उमेद सिंह 48 पुत्र गणेश सिंह, हयात सिंह 37 पुत्र दीवान सिंह, पुष्पा देवी 50 पत्नी शेर सिंह (सभी काकनाई गांव) पुनी देवी 55 पत्नी नारायण सिंह, भगवती देवी 45 पत्नी होशियार सिंह (दोनों हल्द्वानी), बसंती देवी 35 (चंपावत), श्याम लाल 50 पुत्र दानी राम और विजय लाल 48 पुत्र ईश्वरी राम (दोनों डंडा)।