बाजपुर: स्कूल में शिक्षक बना रहे है कोरोना गाइडलाइन का मजाक, प्रधानाचार्य करती रही बचाव

बाजपुर के राजकीय कन्या इंटर कॉलेज में शिक्षा लेने के लिए आई छात्राओं को शिक्षा की जगह बीमारियों वाला धुआं सौंपा जा रहा है

बाजपुर: स्कूल में शिक्षक बना रहे है कोरोना गाइडलाइन का मजाक, प्रधानाचार्य करती रही बचाव

बाजपुर के राजकीय कन्या इंटर कॉलेज में शिक्षा लेने के लिए आई छात्राओं को शिक्षा की जगह बीमारियों वाला धुआं सौंपा जा रहा है। जिससे छात्राएं मजबूरन कक्षा में बैठने को मजबूर है। वही विद्यालय प्रबंधन छात्राओं के बेहतर स्वास्थ्य के लिए लापरवाही बरतता दिखाई दे रहा है। इतना ही नही विद्यालय में शिक्षक खुद मास्क ना पहन कर सरकार द्वारा जारी की गई गाइडलाइन का मजाक बना रहे हैं। 


बता दें कि प्रदेश सरकार ने 16 अगस्त से कक्षा 6 से 8 तक की कक्षाओं को खोलने के आदेश जारी किए थे। जिसके चलते बाजपुर के राजकीय कन्या इंटर कॉलेज में छात्राएं सरकार द्वारा जारी की जा रही गाइडलाइन का पालन नहीं कर रही है। जहां विद्यालय में शिक्षा लेने आई कई छात्राएं मास्क पहनना भी जरूरी नहीं समझ रही हैं इतना ही नहीं छात्राओं को शिक्षा देने वाली अध्यापिकाए भी बिना मास्क के कक्षाओं में शिक्षा दे रही हैं। 


वही विद्यालय में स्कूली छात्राओं को शिक्षा देने की जगह कूड़े का धुआं सौंपा जा रहा है। जहां कक्षाओं के समीप विद्यालय के कर्मचारी ने कूड़े में आग लगा दी जिससे कक्षाओं में जहरीला धुआं भरा दिखाई दिया। जिससे छात्राएं मजबूरन कक्षा में बैठने को मजबूर हैं। वही जब इस मामले में विद्यालय की प्रधानाचार्य इंदिरा पांडे से बात की गई तो उन्होंने अपनी अध्यापिकाओं का बचाव करते हुए बयान दिया उन्होंने कहा कि विद्यालय में सभी अध्यापिकाए और छात्राएं मास्क पहन कर आ रही हैं जो छात्राएं मास्क नहीं पहन कर आ रही है उन्हें मास्क पहनने के बाद विद्यालय में प्रवेश कराया गया है।