अशनीर ग्रोवर ने भारतपे के सीईओ सुहैल समीर के खिलाफ की कार्रवाई की मांग

अशनीर ग्रोवर ने शुक्रवार को भारतपे के बोर्ड को पत्र लिखकर सीईओ सुहैल समीर को 'कारण बताओ' नोटिस देने को कहा।

अशनीर ग्रोवर ने भारतपे के सीईओ सुहैल समीर के खिलाफ की कार्रवाई की मांग

अशनीर ग्रोवर-भारतपे का झगड़ा गुरुवार को एक नए स्तर पर पहुंच गया जब एक कर्मचारी ने अवैतनिक वेतन की शिकायत की और सीईओ सुहैल समीर ने जवाब दिया कि कंपनी के पास पैसे नहीं बचे हैं क्योंकि अश्नीर ने यह सब चुरा लिया है। इस बीच, ग्रोवर ने शुक्रवार को भारतपे के बोर्ड को पत्र लिखकर सीईओ को 'कारण बताओ' नोटिस देने को कहा। "मैं पूछना चाहता हूं कि बोर्ड सुहैल समीर के खिलाफ क्या कार्रवाई करने जा रहा है?। ग्रोवर-समीर लिंक्डइन विवाद 6 अप्रैल को लिंक्डइन पर विवाद तब शुरू हुआ, जब भारतपे के एक आईटी सहयोगी करण सरकार ने पोस्ट किया कि उन्हें अन्य कर्मचारियों के साथ मार्च का वेतन नहीं मिला है। 


भारतपे की स्थापना करने वाले ग्रोवर ने पोस्ट का जवाब देते हुए फिनटेक कंपनी से इस मामले को देखने के लिए कहा। ग्रोवर की बहन आशिमा ने भी इस पर टिप्पणी की और भरतपे के शीर्ष प्रबंधन को "बेशर्म झुंड" कहा। इस पर समीर का जवाब था, "तेरे भाई ने सारा पैसा चुरा लिया (आपके भाई ने सारा पैसा चुरा लिया)। वेतन देने के लिए बहुत कम बचा है। हालांकि कमेंट सेक्शन में लोगों की नाराजगी देखकर समीर ने माफी मांग ली। "मैं आप में से कई लोगों को परेशान करने के लिए क्षमा चाहता हूं। 


सीईओ ने आश्वासन दिया कि वे पिछले कर्मचारियों को पूर्ण और अंतिम भुगतान पर काम कर रहे हैं। मेरी टिप्पणी एक विशेष बयान की प्रतिक्रिया थी, पोस्ट नहीं लेकिन मैं गलती स्वीकार करता हूं। मैं आपसे भी धैर्य रखने का अनुरोध करता हूं और झूठी कहानी पर आधारित कहानी बनाने से बचना चाहता हूं। भारतपे बोर्ड को ग्रोवर का पत्र शार्क टैंक इंडिया के जज ने शुक्रवार आधी रात को अपने पत्र को शूट किया, जिसमें उन्होंने आरोप लगाया कि जब उन्होंने उक्त उत्तर दिया तो समीर 'शराब' और 'ड्रग्स' के प्रभाव में थे। ग्रोवर ने बोर्ड के अध्यक्ष और अनुभवी बैंकर रजनीश कुमार के इस्तीफे की भी मांग की है।