अनुपमा मर्डर केस: राजेश गुलाटी को हाईकोर्ट नहीं मिली जमानत

अनुपमा गुलाटी हत्याकांड में आजीवन कारावास की सजा काट रहा आरोपी पति राजेश गुलाटी को नहीं मिली जमानत

अनुपमा मर्डर केस:  राजेश गुलाटी को हाईकोर्ट  नहीं मिली जमानत

राजधानी देहरादून के चर्चित अनुपमा गुलाटी हत्याकांड में आजीवन कारावास की सजा काट रहा आरोपी पति राजेश गुलाटी को हाईकोर्ट से राहत नहीं मिल सकी है। पिछले माह राजेश ने अपनी बिमारी के चलते जमानत की अर्जी लगाई थी। चीफ जस्टिस कोर्ट ने सरकार के जवाब के बाद दोषी राजेश गुलाटी को जमानत पर सुनवाई के लिए 27 जुलाई की तारीख तय कर दी है। 

राज्य सरकार ने कोर्ट में जमानत याचिका का विरोध करते हुए कहा कि राजेश गुलाटी को जेल में ही मेडिकल सुविधा दी जा रही है। अगर ज्यादा तबियत खराब होती है तो नजदीक के अस्पताल में हाईकोर्ट के आदेश के अनुसार इलाज की सुविधा दी जाएगी। बता दें कि राजेश गुलाटी ने अपनी पत्नी अनुपमा गुलाटी की निर्मम हत्या 17 अक्टूबर 2010 को की थी और शव को छुपाने के लिए उसने शव के 72 टुकड़े कर डीप फ्रिज में डाल दिया था जिसके बाद राजेश शव के टुकड़ों को मसूरी के जंगलों में फेंकता था। 

12 दिसम्बर 2010 को अनुपमा का भाई दिल्ली से देहरादून आया तो हत्या का खुलासा हुआ था। देहरादून कोर्ट ने राजेश गुलाटी को 1 सितम्बर 2017 को आजीवन कारावास की सजा सुनवाई और 15 लाख रुपए का अर्थदण्ड भी लगाया। इसमे से 70 हजार राजकीय कोष में जमा करने और शेष राशि उसके बच्चों के बालिग होने तक बैंक में जमा कराने के आदेश दिए थे।