'कभी कभी' और 'सिलसिला' के बाद 'चेहरे' के लिए कविता सुनाएंगे अमिताभ बच्चन

अमिताभ बच्चन और इमरान हाशमी इन दिनों अपनी अपकमिंग फिल्म 'चेहरे' की रिलीज के लिए तैयार हैं। अमिताभ बच्चन अपनी अपकमिंग  फिल्म 'चेहरे' के लिए रूमी द्वारा लिखी गई एक कविता का सुनाते नजर आएंगे

'कभी कभी' और 'सिलसिला' के बाद 'चेहरे' के लिए कविता सुनाएंगे अमिताभ बच्चन

सदी के महानायक अमिताभ बच्चन ने कभी एक ज़माने में "कभी कभी" और "सिलसिला" के लिए फिल्म में कविता पढ़ी थी जिसके बाद उन कविताओं की गूँज आज तक गूँज रही है। वैसे अमित जी चाहे मधुशाला हो या कोई गीत एक बार वो अपनी जुबान से गा दे तो वो लम्बे समय तक उनके चाहने वालों के जेहन में बस जाता है।  

अमिताभ बच्चन और इमरान हाशमी इन दिनों अपनी अपकमिंग फिल्म 'चेहरे' की रिलीज के लिए तैयार हैं। रूमी जाफरी द्वारा अभिनीत, फिल्म में क्रिस्टल डिसूजा, रिया चक्रवर्ती, सिद्धांत कपूर, अन्नू कपूर, धृतिमान चटर्जी और रघुबीर यादव भी प्रमुख भूमिकाओं में हैं। इससे पहले बिग बी ने 'कभी कभी' और 'सिलसिला' जैसे क्लासिक्स में साहिर लुधियानवी और जावेद अख्तर की कविता को जीवंत किया था। वहीं इस बार वह अपनी अपकमिंग  फिल्म 'चेहरे' के लिए रूमी द्वारा लिखी गई एक कविता का सुनाते नजर आएंगे।

 इस साल अप्रैल में, संगीतकार विशाल-शेखर ने प्राग में 107 संगीतकारों के साथ टाइटल ट्रैक का आर्केस्ट्रा गायन रिकॉर्ड किया। निर्माता आनंद पंडित ने कहा, "शेखर रवजियानी ने धुन को खूबसूरती से तैयार किया है। और अब अमित जी अपनी बेजोड़ आवाज देंगे और ट्रैक में एक और आयाम जोड़ देंगे। वह एक पूर्णतावादी हैं और वह जो कुछ भी करते हैं, चाहे वह कैमरे के सामने एक छोटा सा आंदोलन हो, एक एक्शन सीक्वेंस, एक क्लोज-अप, एक गाना जिसे उसे गुनगुनाना है, या बस चुप रहना है, वह इस पल को अपना सब कुछ दे देते है। बता दे अपकमिंग फिल्म चेहरा कोरोना के चलते रिलीज़ की तारीख तय नहीं कर पाई जल्द इसकी तारीख तय की जाएगी।