अल्मोड़ा-: मामूली गलती करने पर बच्चो को मिली जानलेवा सजा

उत्तराखंड के अल्मोड़ा में जहां  बच्चों को मामूली शरारत करने पर एक ऐसी सजा मिली जिससे बच्चों की जान खतरे में पड़ गई थी ।

अल्मोड़ा-: मामूली गलती करने पर बच्चो को मिली जानलेवा सजा
बच्चे और उनकी शरारतें ये वो दौर होता है उस बचपन का जब वह खुलकर जिंदगी जी रहे होते हैं इस दौरान वह कई गलतियां भी करते हैं और कई गलतियां उनके लिए भारी भी पड़ जाती है ऐसा ही कुछ हुआ है उत्तराखंड के अल्मोड़ा में जहां  बच्चों को मामूली शरारत करने पर एक ऐसी सजा मिली जिससे बच्चों की जान खतरे में पड़ गई थी।


दरअसल स्याल्दे तहसील में ग्राम पंचायत टीटरी में पांच मासूमों के साथ एक दिल दहला देने वाली घटना घटित हुई यह बच्चे रोजाना की तरह गाय चराने जंगल में गए थे जहां उन्होंने एक मामूली सी शरारत कर दी इन बच्चों ने लीस के कुप्पो को फेंक दिया था बस इतनी सी बात पर लीस ठेकेदार के कर्मचारी का पारा इतना हाई हो गया कि वह आग बबूला हो गया और कर्मचारी ने बच्चों को उनके घर से पकड़ कर लिसा डिपो ले आया।


कर्मचारी ने पहले तो उन बच्चों के नाम और पहचान पूछी और फिर उनसे लीस के कुप्पो को  देर तक अपने सर पर डालने को कहा बच्चे इतना ज्यादा डर गए थे कि उन्होंने लीस के पूरे कुप्पे को अपने सर पर उड़ेल लिया।घटना का पूरा वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है इस वीडियो में बच्चों के साथ ठेकेदार की बर्बता देखी जा सकती है वीडियो में ठेकेदार बच्चो से कहता नजर आए रहा है  क्या करोगे जिंदगी भर आगे से ऐसा करोगे चलो इसे अपने सर पर डालो और इतना ही नहीं इस बर्बता का वीडियो भी खुद लीस कर्मचारी ने बनाया है।


लीस डालते वक्त बच्चे रोते रोते कह रहे हैं कि उनकी आंखों में जलन हो रही है लेकिन ठेकेदार के कर्मचारियों पर कोई असर नहीं हुआ बताया जा रहा है कि इस घटना के कारण बच्चों की आंखों पर सूजन आ गई है जब यह मामला संज्ञान में आया तो बाल कल्याण समिति ने इस घटना को गंभीर मानते हुए एसएसपी को कार्यवाही के लिए पत्र लिखा है।पत्र में बताया गया है की पांचों बच्चे नाबालिक है और उनके साथ ऐसा अपराध निंदनीय है उनकी मांग है कि इस घटना पर कड़ी से कड़ी कार्यवाही की जाए।