सर्वदलीय बैठक में सभी नेता शामिल होंगे हमसे जो छीना गया उस पर भी बात होगी: मेहबूबा मुफ़्ती

24 जून की सर्वदलीय बैठक में होंगे कश्मीर के सभी नेता शामिल मोदी जी के सामने अपने अपने विचार करेंगे पेश

सर्वदलीय बैठक में सभी नेता शामिल होंगे हमसे जो छीना गया उस पर भी बात होगी: मेहबूबा मुफ़्ती

24 जून को कश्मीर नेताओं के साथ होने वाली सर्वदलीय बैठक का फैसला हो चूका है। पीएम मोदी के साथ होने वाली बैठक से पहले मंगलवार आज श्रीनगर में फारुक अब्दुल्ला की अध्यक्षता में उनके घर पर गुपकार पार्टियों की बैठक हुई, जिसमें महबूबा मुफ्ती समेत 7 नेता मौजूद रहे। इस बैठक में प्रधानमंत्री मोदी द्वारा बुलाई गई बैठक में जाने के विषय पर चर्चा हुई। 


पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने कहा, 'हम डायलॉग के खिलाफ नहीं हैं, लेकिन हम जरूर चाहते हैं कि कुछ कॉन्फिडेंस बिल्डिंग मेजर होने चाहिए। पूरे देश में कोरोना महामारी के दौरान कैदियों को रिहा किया गया, जम्मू कश्मीर में भी ऐसा होना चाहिए था। जम्मू-कश्मीर के सियासी और अन्य कैदियों को भी रिहा किया जाना चाहिए था.' साथ ही मेहबूबा मुफ़्ती ने इशारों इशारों में कहा की हमसे जो छीना गया है उस पर भी बात होगी जाहिर है की मेहबूबा का इशारा सेक्शन 370 और 35-ए को लेकर था। 


महबूबा ने आगे कहा, 'उनका जो भी एजेंडा होगा, हम अपना एजेंडा उनके सामने रखेंगे और उम्मीद करेंगे कि हमारे जाने से कम से कम इतना हो कि जेलों में बंद हमारे लोगों को कम से कम रिहा किया जाए, अगर रिहा नहीं कर सकते तो कम से कम जम्मू-कश्मीर ले आएं, कम से कम उनके परिवार के लोग तो उनसे मिल सकें.' मोदी की बैठक के लिए आमंत्रित 14 नेताओं में शामिल हैं। वह पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के साथ केंद्र के साथ इस तरह की पहली बातचीत पर विचार-विमर्श कर रहे हैं।

महबूबा मुफ्ती ने कहा, 'गुपकार गठबंधन का जो एजेंडा है, उसके तहत हम बात करेंगे। हमसे जो छीना गया है, उसपर बात करेंगे कि यह गलत किया गया है, यह गैर कानूनी है और असंवैधानिक है. इसको बहाल किए बगैर जम्मू-कश्मीर में अमन बहाल नहीं कर सकते. इसके साथ ही महबूबा मुफ्ती ने कहा कि भारत सरकार को कश्मीर के मसले पर पाकिस्तान से भी बातचीत करनी चाहिए। फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि सर्वदलीय बैठक में नेशनल कांफ्रेंस, पीडीपी समेत वह सभी दल शामिल होंगे, जिन्हें न्योता मिला है। हमें कोई एजेंडा नहीं दिया गया है, इसलिए प्रधानमंत्री और गृहमंत्री के सामने हम अपना पक्ष रखेंगे।