अलर्ट: गौतम बौद्ध नगर सहित कई शहरों में वायरल फीवर से हुई मौत, फीवर होने पर तुरंत कराएं जांच

पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कुछ जिलों जैसे मैनपुरी, फिरोजाबाद और मथुरा में पिछले कुछ दिनों से "वायरल फीवर" के मामलों में वृद्धि देखी जा रही है

अलर्ट: गौतम बौद्ध नगर सहित कई शहरों में वायरल फीवर से हुई मौत, फीवर होने पर तुरंत कराएं जांच

समाचार एजेंसी पीटीआई ने बताया कि गौतम बौद्ध नगर प्रशासन ने वायरल बुखार के मामलों को लेकर अलर्ट जारी किया है और स्वास्थ्य कर्मियों को निर्देश दिया है कि वे ऐसे लोगों पर ध्यान दें, जिन्हें बुखार था. गुरुवार को अलर्ट आर्डर आया है क्योंकि पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों में बुखार के कारण कई लोगों की मौत हो गई है. स्वास्थ्य विभाग ने लोगों से मलेरिया जैसी वेक्टर जनित बीमारियों से सावधान रहने की अपील की और उन्हें स्व-उपचार का विकल्प चुनने के बजाय बुखार होने पर डॉक्टर से मिलने के लिए कहा.

वायरल फीवर से हो रही है मौत 

पीटीआई के अनुसार, रिपोर्टों में कहा गया है कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कुछ जिलों जैसे मैनपुरी, फिरोजाबाद और मथुरा में पिछले कुछ दिनों से "वायरल फीवर" के मामलों में वृद्धि देखी जा रही है, और लगभग एक दर्जन लोगों की मौत हो गई है. नोएडा के मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) डॉ सुनील शर्मा ने गुरुवार को पीटीआई को बताया कि वेक्टर जनित बीमारियों और मथुरा में वायरल बुखार के कारण होने वाली मौतों के मद्देनजर जीबी नगर में अलर्ट जारी किया गया है, जिसमें लक्षण दिखाई देने वाले लोगों में शामिल हैं.


नि:शुल्क होगा इलाज 

वही डॉक्टर सुनील शर्मा ने कहा है सरकारी अस्पतालों में मलेरिया की जांच करानी होगी और जो पॉजिटिव पाए जाएंगे उनका इलाज किया जाएगा. शर्मा ने कहा कि सभी सरकारी अस्पतालों में जांच और इलाज नि:शुल्क होगा.सभी एएनएम ANM (सहायक नर्स दाई) और आशा (मान्यता प्राप्त सामाजिक स्वास्थ्य कार्यकर्ता) कार्यकर्ताओं को नियमित रूप से अपने क्षेत्रों में दौरा करें और समस्त सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों व सरकारी अस्पतालों व प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों और में संबंधित स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को बुखार के मामलों की रिपोर्ट करने के लिए कहा गया है. ताकि ऐसे मरीजों का उचित समय में उचित इलाज के लिए परीक्षण किया जा सके. 


पानी से संबंधित स्वच्छता बनाए रखे 

सुनील शर्मा ने कहा कि बुखार की किसी भी रिपोर्ट की स्थिति में, स्वास्थ्य विभाग की टीमें स्थिति की निगरानी के लिए ऐसे क्षेत्रों का दौरा करेंगी ताकि समय पर परीक्षण और उपचार किया जा सके. नोएडा के सीएमओ ने लोगों से घर पर पानी से संबंधित स्वच्छता बनाए रखने का भी आग्रह किया और कहा कि घरों और आस-पास के स्थानों में पानी जमा नहीं होना चाहिए और एयर कूलर के टैंकों को हर हफ्ते एक बार साफ करना चाहिए और उपयोग से पहले पूरी तरह सूख जाना चाहिए.