जितिन के बाद असम विधायक रूपज्योति कुर्मी ने कहा कांग्रेस पार्टी को अलविदा

एक बाद एक हो रही कांग्रेस पार्टी से युवा नेताओं की विदाई जितिन के रूपज्योति कुर्मी ने छोड़ी कांग्रेस पार्टी

जितिन के बाद असम विधायक रूपज्योति कुर्मी ने कहा कांग्रेस पार्टी को अलविदा

कांग्रेस का दामन छुड़ाने वाले एक और नेता नाम शामिल हो चूका है। अब जितिन प्रसाद के बाद असम विधायक रूपज्योति कुर्मी ने पार्टी छोड़ने का एलान किया है। रूपज्योति कुर्मी का कांग्रेस पर आरोप है की कांग्रेस पार्टी युवाओं की आवाज नहीं सुनती है। उन्होंने कहा,'मैं कांग्रेस छोड़ रहा हूं। दिल्ली और गुवाहाटी में हाईकमान के नेता बुजुर्ग नेताओं को ही प्राथमिकता देते हैं। हमने उनसे कहा था कि कांग्रेस के पास इस बार सत्ता में आने का अच्छा मौका है। हमें एआइयूडीएफ के साथ गठबंधन नहीं करना चाहिए, क्योंकि यह एक गलती होगी। अब देख लीजिए परिणाम सबके सामने है।'

रूपज्योति कुर्मी ने कहा कि इस बार असम विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के पास जीतने का अच्छा मौका था। इस बारे में उन्होंने आलाकमान को भी अवगत कराया था, लेकिन पार्टी ने एआईयूडीएफ के साथ गठबंधन करके सब गड़बड़ कर दिया। कुर्मी ने आरोप लगाया कि आलाकमान अभी तक बुजुर्ग नेताओं को ही प्राथमिकता देता रहा है। युवाओं की बात वह नहीं सुनना चाहते हैं। इसलिए सभी राज्यों में पार्टी की स्थिति बिगड़ती जा रही है। रूपज्योति कुर्मी ने राहुल गांधी पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी नेतृत्व करने में असमर्थ हैं, अगर वह कांग्रेस की कमान संभालते हैं तो पार्टी आगे नहीं बढ़ेगी।