कोरोना के बाद एक बार फिर चीन ने दुनिया को दिया नया वायरस

पूर्वी चीन में लोगों को संक्रमित करने वाले एक नए पशु वायरस की पहचान की गई है।

कोरोना  के बाद एक बार फिर चीन ने दुनिया को दिया नया वायरस

पूर्वी चीन में लोगों को संक्रमित करने वाले एक नए पशु वायरस की पहचान की गई है। लेकिन वैज्ञानिकों का कहना है कि वे ज्यादा चिंतित नहीं हैं क्योंकि यह वायरस लोगों के बीच आसानी से फैलता नहीं दिख रहा है और न ही यह घातक है

 


लैंग्या हेनिपावायरस नाम का वायरस, बुखार, खांसी और थकान जैसे श्वसन संबंधी लक्षण पैदा कर सकता है, और लोगों को संक्रमित करने के लिए जाने वाले दो अन्य हेनिपावायरस से निकटता से संबंधित है - हेंड्रा वायरस और निपाह वायरस। ये श्वसन संक्रमण भी पैदा करते हैं, और घातक हो सकते हैं। शोधकर्ताओं का मानना ​​है कि LayV  लोगों द्वारा किया जाता है, जो लोगों को सीधे या एक मध्यवर्ती जानवर के माध्यम से संक्रमित कर सकते हैं।

 

Zoonotic Langya वायरस के गंभीर लक्षणों में शरीर में व्हाइट ब्लड सेल्स की कमी देखी गई है जिसमे प्लेटलेट कम हो जाते हैं. ये सबसे ज्यादा इम्पैक्ट लिवर और किडनी पर डालता है. मामूली लक्षण में लीवर से जुड़ी बीमारियां हो सकती हैं. वहीं, गंभीर मामलों में लिवर फेल भी हो सकता है. ताइवान के रोग नियंत्रण केंद्र की मानें तो, लांग्या वायरस की टेस्टिंग के लिए nucleic acid testing की मदद ली जा रही है. न्यू इंग्लैंड जर्नल ऑफ मेडिसिन में प्रकाशित "ए जूनोटिक हेनिपावायरस इन फेब्राइल पेशेंट्स इन चाइना" के एक अध्ययन में कहा गया है कि चीन में बुखार पैदा करने वाली ये बीमारी हेनिपावायरस से फैल रही है.