मुस्लिम व्यक्ति से मारपीट के बाद "जय श्री राम" के लगवाए नारे, बेटी बख्शने की मांगती रही भीख

उत्तर प्रदेश के कानपुर शहर में एक 45 वर्षीय मुस्लिम व्यक्ति को बुधवार को सड़क पर घुमाया गया, मारपीट की गई और "जय श्री राम" के नारे लगवाए गए।

मुस्लिम व्यक्ति से मारपीट के बाद "जय श्री राम" के लगवाए नारे, बेटी बख्शने की  मांगती रही भीख

उत्तर प्रदेश के कानपुर शहर में एक 45 वर्षीय मुस्लिम व्यक्ति को बुधवार को सड़क पर घुमाया गया, मारपीट की गई और "जय श्री राम" के नारे लगवाए गए। बाद में उसे पुलिस के हवाले कर दिया गया। स्थानीय लोगों द्वारा शूट की गई घटना के दर्दनाक फुटेज में उस व्यक्ति की छोटी बेटी को उससे लिपटते हुए और हमलावरों से उसे बख्शने की भीख मांगते हुए दिखाया गया है। फुटेज में यह भी दिखाया गया है कि पुलिस की हिरासत में एक व्यक्ति को मारा जा रहा है।

बजरंग दाल की बैठक के बाद हुई घटना 

यह घटना एक चौराहे से 500 मीटर की दूरी पर घटित हुई जहां दक्षिणपंथी समूह बजरंग दल ने एक बैठक की जहां उन्होंने दावा किया कि इलाके के मुसलमान अपने इलाके में एक हिंदू लड़की का धर्म परिवर्तन करने की कोशिश कर रहे थे। कथित तौर पर हमला बैठक के ठीक बाद हुआ एक बयान में कानपुर पुलिस ने कहा कि उन्होंने मारपीट करने वाले व्यक्ति की शिकायत के आधार पर एक शादी का बैंड चलाने वाले एक स्थानीय, उसके बेटे और लगभग 10 अज्ञात लोगों के खिलाफ दंगा करने का मामला दर्ज किया है। पुलिस ने यह नहीं बताया है कि मामले में नामित व्यक्ति संगठन से जुड़े हैं या नहीं। 

हिंदू पड़ोसियों के साथ कानूनी विवाद 

ई-रिक्शा चालक ने कहा मैं दोपहर करीब 3 बजे अपना ई-रिक्शा चला रहा था जब आरोपी ने मुझे गालियां देना और मारपीट करना शुरू कर दिया और मुझे और मेरे परिवार को जान से मारने की धमकी दी। मैं पुलिस की वजह से बच गया। मैंने जाकर उसकी शिकायत उन्होंने अभी तक मीडिया से बात नहीं की है। वह आदमी इलाके के एक मुस्लिम परिवार का रिश्तेदार है जो अपने हिंदू पड़ोसियों के साथ कानूनी विवाद में शामिल है। कानपुर पुलिस के बयान में कहा गया है कि जुलाई में दोनों परिवारों ने एक दूसरे के खिलाफ स्थानीय थाने में मामला दर्ज कराया था। 

मुस्लिम परिवार का हो रहा था परिवर्तन 

मुस्लिम पक्ष ने पहले मारपीट और आपराधिक धमकी की प्राथमिकी दर्ज कराई थी। हिंदू पक्ष ने तब एक महिला की शारीरिक छेड़छाड़ः करने के इरादे से हमला करने का आरोप लगाते हुए एक मामला दर्ज किया गया है। सूत्रों का कहना है कि बजरंग दल हाल ही में इस मामले में शामिल हुआ था और वे मुस्लिम परिवार पर जबरन धर्म परिवर्तन के आरोप लगा रहे थे। कानपुर के एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी रवीना त्यागी ने एक संक्षिप्त बयान में कहा, "हमने एक व्यक्ति के साथ मारपीट का वीडियो देखा है। पीड़िता की शिकायत के आधार पर हमने प्राथमिकी दर्ज की है और हम कानूनी प्रक्रिया को अंजाम दे रहे हैं।