केंद्रीय मंत्री के बेटे और एक पूर्व मुख्यमंत्री के पोते पर हुई कार्यवाही

विश्व प्रसिद्ध दून स्कूल में पढ़ने वाले एक केंद्रीय मंत्री के बेटे और एक पूर्व मुख्यमंत्री के पोते के खिलाफ स्कूल प्रशासन ने कार्रवाई की है

केंद्रीय मंत्री के बेटे और एक पूर्व मुख्यमंत्री के पोते पर हुई कार्यवाही

विश्व प्रसिद्ध दून स्कूल में पढ़ने वाले एक केंद्रीय मंत्री के बेटे और एक पूर्व मुख्यमंत्री के पोते के खिलाफ स्कूल प्रशासन ने कार्रवाई की है। दिन भर नकल करते पकड़े जाने की बात का खंडन करते हुए स्कूल प्रशासन ने स्वीकार किया कि छात्रावास के नियमों का मामूली उल्लंघन करने पर उनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की गई है। शुक्रवार को एक केंद्रीय मंत्री के बेटे और एक पूर्व मुख्यमंत्री के पोते दून स्कूल में बोर्ड परीक्षा के दौरान अनुचित साधनों के इस्तेमाल को लेकर सोशल मीडिया पर दिनभर चर्चा चलती रही। 


यह भी चर्चा रही कि दोनों छात्रों को स्कूल प्रशासन ने सख्त कार्रवाई करते हुए छात्रावास से निकाल दिया है, लेकिन दबाव में कार्रवाई वापस ले ली गई। शाम को स्कूल प्रशासन ने सारी चर्चाओं पर विराम लगा दिया। स्कूल की पीआरओ कीर्तिका जुगरान की ओर से बयान जारी कर कहा गया है कि कुछ ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर प्रकाशित खबर तथ्यात्मक रूप से गलत है। छात्रावास के नियम तोड़ने पर दो छात्रों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की गई है। यह स्कूल के नियमों और नीतियों से जुड़ी एक सामान्य प्रक्रिया है। 


वहीं, स्कूल प्रशासन ने भी छात्रों को छात्रावास से निकालने की सूचना से इनकार किया है। इस पर आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह ने ट्वीट किया। इसके बाद मामला गरमा गया। उन्होंने कहा कि केंद्रीय मंत्री के बेटे और पूर्व सीएम के पोते के नकल करते पकड़े जाने पर प्राचार्य ने कार्रवाई की, लेकिन दबाव बनाकर कार्रवाई रोक दी गई. वहीं फिल्ममेकर विनोद कापड़ी ने भी इसे रीट्वीट किया।