चारधाम यात्रा में कुल 54 यात्रियों की मौत, मौत का ज्यादातर कारण बना हार्ट अटैक

चारधाम यात्रा के दौरान अब तक कुल 54 यात्रियों की मौत हो चुकी है. रविवार को बाबा केदार के दर्शन करने केदारनाथ पहुंचे दो यात्रियों की हार्ट अटैक से मौत हो गई

चारधाम यात्रा में कुल 54 यात्रियों की मौत, मौत का ज्यादातर कारण बना हार्ट अटैक
चारधाम यात्रा के दौरान अब तक कुल 54 यात्रियों की मौत हो चुकी है. रविवार को बाबा केदार के दर्शन करने केदारनाथ पहुंचे दो यात्रियों की हार्ट अटैक से मौत हो गई। यमुनोत्री में सोमवार को एक यात्री की दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई। केदारनाथ में 27 यात्रियों की हार्ट अटैक से मौत जबकि एक यात्री की गिरने से मौत हो गई। केदारनाथ में रविवार को बृजधाम, रामबाग लेन, एसवी रोड, बोरीवली महाराष्ट्र निवासी प्रीति (58) और मुंबई निवासी किरीट ए त्रिवेदी (71) की तबीयत बिगड़ने से अचानक मौत हो गई। 

डॉक्टरों ने मौत का कारण सीने में दर्द और सांस लेने में तकलीफ बताया है। सीएमओ डॉ. बीके शुक्ला ने बताया कि अब तक 28 यात्रियों की मौत हो चुकी है। वहीं यमुनोत्री धाम यात्रा पर आए श्रद्धालु की जानकीचट्टी में हार्ट अटैक से मौत हो गई. धाम में 14 यात्रियों की हार्ट अटैक से मौत हो गई। जबकि दो की गिरने से मौत हो गई। चारधाम यात्रा के दौरान दिल का दौरा पड़ने से मौत के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। 

रुद्रप्रयाग में सीएमओ डॉ. बीके शुक्ला ने कहा कि प्रशासन के निर्देश पर यात्रियों के स्वास्थ्य को लेकर पूरी सतर्कता बरती जा रही है। इसके साथ ही सोनप्रयाग से केदारनाथ तक प्रतिदिन 14 एमआरपी पर तीन हजार से अधिक यात्रियों के स्वास्थ्य की जांच की जा रही है और उनका प्राथमिक उपचार किया जा रहा है. बताया कि यात्रियों को ऑक्सीजन सिलेंडर भी दिए गए। साथ ही प्रत्येक एमआरपी पर संबंधित जांच की गई।