161 साल पुरानी रामलीला होगी इस बार ख़ास, महिलाएं निभाएंगी रावण का किरदार

अक्सर हमसब रामलीला के मंच में अधिकतर पुरुषों को को किरदार निभाते देखा गया है लेकिन जैसे जैसे समय बदल रहा है उसी के साथ मंच में भी बदलाव देखने को मिला है

161 साल पुरानी रामलीला होगी इस बार ख़ास, महिलाएं निभाएंगी रावण का किरदार

अक्सर हमसब रामलीला के मंच में अधिकतर पुरुषों को को किरदार निभाते देखा गया है लेकिन जैसे जैसे समय बदल रहा है उसी के साथ मंच में भी बदलाव देखने को मिला है. अब कुछ किरदार महिलाओं को भी मिलने लगा है. बात कर रहे है इस बार हम कुमाऊं, अल्मोड़ा की जहाँ रामलीला की शुरुआत किए 161 साल हो गए हैं. यह अपने आप में उत्तराखंड की सांस्कृतिक बनाएं रखने की महानता है की युग कितना ही मॉडर्न हो जाए हर साल रामलीला का आयोजन युगों-युगों तक चलता रहेगा.

 

90 के दशक से हुई थी शुरुआत

वही अगर इन 161सालों की बात किया जाए तो यहाँ लम्बे समय से रामलीला मंच पर पुरुषों की जहग यहाँ महिलाएं किरदार निभाती है. यह सिलसिला 90 के दशक से शुरू हुआ था जब बच्चियां छोटी थी और रामलीला में पात्रों की भूमिका निभाई थी. दूसरी तरफ पहली बार नगर में महिला रामलीला का आयोजन होने जा रहा है इसमें सभी किरदार महिलाएं निभाती नजर आएँगी बता दे की कर्नाटकखोला में रामलीला कमेटी से इसकी शुरुआत होगी.

 

 1860 में हुई थी शुरुआत

इस रामलीला का श्रेय डिप्टी कलक्टर स्व. देवीदत्त जोशी को जाता है क्यूंकि साल 1860 में अल्मोड़ा    मालरोड के बद्रेश्वर मंदिर से रामलीला की शुरुआत हुई थी. वही अल्मोड़ा में आज भी लोग नृत्य सम्राट पंडित उदय शंकर दुआर किए गए प्रयोगों को आज भी याद किया जाता है. जब उन्होंने 1940-41 में पातालदेवी में छाया चित्रों के जरिय रामलीला प्रस्तुत की थी. जिसके बाद यहाँ से रामलीला का श्री गणेश हो गया था और नगर के अलग अलग स्थानों में रामलीला आयोजित होने लगी. वर्तमान समय की बात की जाए तो नंदा देवी, लक्ष्मी भंडार हुक्का क्लब, राजपुरा, धारानौला, एनटीडी और खत्याड़ी आदि स्थानों में लीला का मंचन हो रहा है।

 

रावण का किरदार निभाएगी महिलाएं

 इस साल की रामलीला को इसलिए भी ख़ास माना गया है की क्यूंकि इस बार रावण, कुंभकर्ण और मेधनाद का किरदार महिलाएं निभाती नजर आएँगी. वही आगामी सोलह अक्टूबर से इसकी शुरुआत होगी। उन्होंने कहा कि मातृशक्ति को आगे लाने के लिए यह पहल की गई है।

 

धारानौला में होगा मंचन

 इधर, सिर्फ  अल्मोड़ा में नहीं बल्कि धारानौला में महिला रामलीला का आयोजित होगी इसकी चलते समिति के अध्यक्ष व नगर पालिका के सभासद राजेंद्र तिवारी का कहना है की महिलाएं पुरे जोश में है और उन्होंने अच्छे तरीके से तैयारी कर ली है. इसी के साथ 18 से 22 अक्टूबर तक धारानौला में महिला रामलीला का आरम्भ होगा.