नए CDS लेफ्टिनेंट जनरल अनिल चौहान की 12 ख़ास बातें जिन्हें जानना है बेहद जरूरी  

लेफ़्टिनेंट जनरल अनिल चौहान अब देश के दूसरे सीडीएस होंगे. जाने लेफ़्टिनेंट जनरल अनिल चौहान के बारे में यह 12 बातें.

नए CDS लेफ्टिनेंट जनरल अनिल चौहान की 12 ख़ास बातें जिन्हें जानना है बेहद जरूरी  
लेफ़्टिनेंट जनरल अनिल चौहान (रिटायर्ड) भारत के नए सीडीएस नियुक्त किए गए हैं. लेफ़्टिनेंट जनरल अनिल चौहान सैन्य मामलों के विभाग के सचिव के रूप में भी कार्य करेंगे. देश के पहले सीडीएस जनरल बिपिन रावत के निधन के बाद से यह पद खाली था. बताते चलें की बीते वर्ष 8 दिसंबर को देश के पहले सीडीएस जनरल बिपिन रावत की एक हेलीकॉप्टर दुर्घटना में मौत के क़रीब साढ़े नौ महीने बाद यह नियुक्ति की गई है.

लेफ़्टिनेंट जनरल अनिल चौहान अब देश के दूसरे सीडीएस होंगे. जाने लेफ़्टिनेंट जनरल अनिल चौहान के बारे में यह 12 बातें.

1. 40 सालों से अधिक के अपनी सैन्य सेवा के दौरान लेफ़्टिनेंट जनरल अनिल चौहान ने कई कमांड संभाले हैं. उन्हें जम्मू-कश्मीर और पूर्वोत्तर राज्यों में आतंक निरोधी ऑपरेशन का व्यापक अनुभव है.

2. 18 मई 1961 को जन्मे लेफ़्टिनेंट जनरल अनिल चौहान 1981 में भारतीय सेना के 11 गोरखा राइफ़ल्स में शामिल हुए थे.

3. राष्ट्रीय रक्षा अकादमी (एनडीए) खड़गवासला और भारतीय सैन्य अकादमी (आईएमए) देहरादून से पढ़े हैं.

4. मेजर जनरल के पद पर रहते हुए उन्होंने जम्मू-कश्मीर के बारामूला सेक्टर में नॉर्दर्न कमांड में इन्फैंट्री डिवीजन की कमान संभाली.

5. बाद में लेफ़्टिनेंट जनरल के पद पर रहते हुए उन्होंने पूर्वोत्तर कोर का नेतृत्व किया. भारतीय सेना में कुल 14 कोर हैं.

6. उसके बाद वे सितंबर 2019 से मई 2021 तक अपने रिटायरमेंट तक ईस्टर्न कमांड के जनरल ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ़ रहे.

7. इसके अलावा वे डायरेक्टर जनरल मिलिट्री ऑपरेशन के पद पर भी रह चुके हैं.

8. लेफ़्टिनेंट जनरल अनिल चौहान ने संयुक्त राष्ट्र के अंगोला मिशन में भी अपनी सेवाएं दी हैं.

9. 31 मई 2021 को लेफ़्टिनेंट जनरल अनिल चौहान सेना से रिटायर हुए थे.

10. सेना से रिटायरमेंट के बाद भी उन्होंने राष्ट्रीय सुरक्षा और रणनीतिक मसलों पर अपना योगदान देना जारी रखा.

11. सेना में उनके विशिष्ट और शानदार सेवा के लिए लेफ़्टिनेंट जनरल अनिल चौहान (रिटायर्ड) को परम विशिष्ट सेवा मेडल, उत्तम युद्ध सेवा मेडल, अति विशिष्ट सेवा मेडल, सेना मेडल और विशिष्ट सेवा मेडल से सम्मानित किया जा चुका है.

12. देश के पहले सीडीएस जनरल बिपिन रावत की तरह ही नए सीडीएस लेफ़्टिनेंट जनरल अनिल चौहान भी उत्तराखंड से ही हैं.